भदेठी में निर्दोषों को पुलिस ने बना दिया मुल्जिम:मोहम्मद याकूब

दरवाजे पर चारपाई डालकर सो रहे बुजुर्गों को भी भेजा दिया जेल

पुलिस सत्ता के दबाव में कर रही काम,होनी चाहिए न्यायिक जांच

प्रखर खेतासराय(जौनपुर)। भदेठी कांड में पुलिस ने जांच किए बगैर निर्दोष लोगों को मुलजिम बना दिया। घटना की रात दरवाजे पर चारपाई डालकर सो रहे कई वृद्ध लोगों को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर चालान कर दिया। पुलिस सत्तापक्ष के दबाव में काम कर रही है, जिसकी न्यायिक जांच होना जरूरी है। उक्त बातें समाजवादी पार्टी के पूर्व प्रदेश सचिव मोहम्मद याकूब पप्पू ने पत्रकारों से बात करते हुए कही।

उन्होंने कहा कि हमारे गांव भदेठी में कभी संप्रदायिक झगड़े नहीं हुए थे। अनुसूचित जाति बस्ती में जो कुछ भी हुआ हम उसकी निंदा करते हैं। लेकिन छोटे बच्चों के मामूली झगड़े को लोगों ने तूल देकर दर्जनों निर्दोष लोगों को साजिश के तहत गंभीर धाराओं में फंसा दिया। नाबालिग बच्चों और बुजुर्गों को आरोपी बना दिया गया। घटना के बाद सत्ता पक्ष के दबाव में वर्ग विशेष के प्रति पुलिस महकमें की जुल्म व ज्यादती ने गांव के लोगों को पलायन को मजबूर कर दिया।

पुलिस के भय से अधिकांश लोगों ने गांव छोड़ दिया है जो वापस लौटने को तैयार नहीं है। लोग सोचते हैं कि पुलिस कभी भी उन्हें फर्जी मुकदमें में फंसा सकती है। पुलिस के एक पक्षीय रवैये ने लोगों के भीतर भरोसा खो दिया है। उन्होंने घटना में निर्दोष लोगों को फसाने में जहां सत्ता पक्ष के एक नेता का नाम लिया। वहीं दूसरी तरफ हल्का सिपाही की भूमिका से भी इंकार नहीं किया है। कहा मामले की न्यायिक जांच हो सचाई खुद- बखुद सामने आ जायेगी।