पत्रकारों ने पीएमओ को दिया पत्रक

 

प्रखर वाराणसी । निजी अस्पताल द्वारा मनमानी तौर पर बगैर किसी मानक के लूट की जा रही है जिस संदर्भ में पत्रकार कल्याण परिषद प्रदेश अध्यक्ष कृष्णा पंडित की अगुवाई में कई वरिष्ठ पत्रकारों के साथ प्रधानमंत्री को पत्र देकर सामाजिक मुद्दे पर ध्यान आकर्षित करने का आग्रह किया ।

1-जो भी निजी अस्पताल हैं उनकी पूरी जानकारी – एरिया , डाॅक्टरों , नर्स व अन्य कर्मचारियो का विवरण , कमरे , बिस्तर , मशीनें आदि स्थानीय थाना व जिलाधीश कार्यालय में उपलब्ध हो
2) उपचार के लिए आए मरीजों का पूरा विवरण , नाम , पता , मोबाइल नम्बर , रोग , रोग का पूर्व इतिहास व विवरण । केवल दवा दी या एडमिट किया , आपरेशन किया आदि
3) मरीज के आने और अंतिम दिन तक यानि ठीक होने तक क्या क्या दवा दी गयी , आपरेशन आदि सभी खर्च का पूरा विवरण
3)सभी विवरण पाक्षिक अथवा मासिक स्थानीय थाना व जिलाधीस कार्यालय को अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराया जाय
4) सरकारी अस्पताल के एक वरिष्ठ डाक्टर , जिलाधीश या उनका प्रतिनिधि , स्थानीय विधायक / सभासद , प्रिन्ट मीडिया तथा इलेक्ट्रानिक मीडिया का एक एक प्रतिनिधि , सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधि की एक समिति हो जो अधिकतम तीन माह में स्थलीय दौरा कर सभी दस्तावेजों की जाॅच कर अपनी प्रगति रपट जिलाधीश को दे जिसे राज्य सरकार को भेजा जाय ।
किसी भी प्रकार की अनियमितता पाए जाने पर उनका पंजीयन तथा डाॅक्टर की प्रैक्टिश पर रोक लगाने का प्रावधान हो ! पत्रक देने वालों में पत्रकार कल्याण परिषद के प्रदेश अध्यक्ष कृष्णा पंडित,प्रदेश महासचिव नितिन राय, प्रदेश मीडिया प्रभारी अमरीश चतुर्वेदी ,वरिष्ठ पत्रकार मनीष श्रीवास्तव,जिला सचिव प्रभात गोंड़ जी,अभिषेक दुबे,रेहान जीकई पदाधिकारियों की मौजूदगी में पीएमओ प्रभारी श्री शिव शरण पाठक जी को पत्रक दिया गया !!