सरकार को चुनौती देता वाराणसी का पालीथिन माफ़िया

जिला प्रशासन को खुली चुनौती देने वाला बनारस का आधुनिक पहलवान

प्रखर वाराणसी। खबर आम है लेकिन सोती जिला प्रशासन की नींद खोलने को तैयार नहीं योगी जी रोज भ्रष्टाचार पर असफल लगाम लगाने की पुरजोर कोशिश में जुटे हैं और उनके शागिर्द नगर निगम और सेल टैक्स विभाग के नुमाइंदों की सांठगांठ से भ्रष्टाचार का व्यापक परिधि बढ़ रहा है इस पर नियंत्रण इनके विभाग के बाहर का आम आदमी को समझ आ रहा है। ईमानदार और कुशल जिलाधिकारी होने के बावजूद भी भ्रष्टाचार अपना पांव पसारे हुए हैं। क्या इन महोदय के लिए प्लास्टिक बैन नहीं है जो धड़ल्ले से अपना काम डंके की चोट पर कर रहे हैं। लेकिन बड़ा सवाल उठता है कि यदि व्यापारी वर्ग इस तरीके से खुले चुनौती के साथ बनारस में भ्रष्टाचार करता रहेगा तो शासन और सत्ता के लोगों के लिए जोरदार तमाचा होगा। वही सूत्र बताते हैं कि बीजेपी के स्थानीय नेता भी इनके सपोर्ट में हमेशा खड़े नजर आते हैं। बतादे कि सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार प्लास्टिक की दुकान गोला दीनानाथ में व गोडाउन कबीर चौरा वाराणसी में है। सूत्र यह भी बताते है कि चार माले का गोदाम है, जिसका रखरखाव परिवार के सदस्य कर रहे हैं वहां से महज 500 मीटर की दूरी पर सेल टैक्स का ऑफिस है लेकिन इनकी नजर इसलिए कमजोर पड़ी है, क्योंकि सूत्र कहते है कि जेब गर्म रहती है जिसकी वजह से कुछ नही होता। वही सूत्रों के मुताबिक विभागीय वसूली अभी भी जारी रही हैं।