खेल आयोजन में नहीं पहुंचे अखिलेश यादव, बाहुबली रामाकांत यादव पर पथराव

-मुख्य अतिथि अखिलेश यादव के न पहुंचने पर बेकाबू हुई भीड़

– आजमगढ़ के पूर्व सांसद रमाकांत पहुंचे थे आयोजन स्थल पर

प्रखर वाराणसी। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के एक खेल प्रतियोगिता में नहीं पहुंचने से नाराज लोगों ने वहाँ पहुंचे समाजवादी पार्टी के नेता और पूर्व सांसद बाहुबली रमाकांत यादव को इंट-पत्थर लेकर दौड़ा लिया। बतादें कि बड़ागांव थाना क्षेत्र के हरहुआ एयरपोर्ट मार्ग पर स्थित काशी कृषक इंटर कॉलेज के प्रांगण में रविवार को एक दिवसीय एथलेटिक प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इसमें मुख्य अतिथि सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को दिखाया गया था लेकिन किन्हीं कारणों से वे नहीं आ सके।अखिलेश यादव की जगह आजमगढ़ के पूर्व सांसद रमाकांत यादव से प्रतियोगिता का उद्घाटन आयोजन समिति की ओर से करा दिया गया। लेकिन अपने पसंदीदा नेता अखिलेश को देखने और सुनने को जुटी हजारों की भीड़ रामाकांत को देखकर बेकाबू हो गई और पथराव शुरू कर दिया । इसके बाद भगदड़ मच गई। इस भगदड़ और पथराव में पूर्व सांसद रामाकांत की गाड़ी भी क्षतिग्रस्त हुई है जबकि दर्जनों कुर्सियां भी टूट गई। मारपीट और भगदड़ देख मौके पर मौजूद जवान बेबस दिखे। रमाकांत यादव को मौके से बड़ी मुश्किल से बचा कर निकाला गया। हंगामे के बीच प्रतियोगिता रद्द कर दी गई। प्रतियोगिता में भाग लेने आए खिलाड़ियों ने आयोजकों पर धोखाधड़ी का आरोप भी लगाया। इस भगदड़ में कई खिलाड़ियों का किट बैग भी चोरी हो गया। खिलाड़ियों ने आयोजकों से हरजाने की मांग भी की है। जानकारी के अनुसार स्वधर्म मानव कल्याण ट्रस्ट एवं जन सहयोग द्वारा प्राइज मनी एथलेटिक प्रतियोगिता का आयोजन पूर्व राष्ट्रीय खिलाड़ी दिनेश सिंह यादव के नेतृत्व में किया गया था। भारी-भरकम इनामों वाली इस प्रतियोगिता में देश के हर राज्यों से हजारों धावकों ने प्रतिभाग किया था। दर्शकों की तादाद भी ठीक-ठाक थी। मुख्य अतिथि अखिलेश यादव के न आने से भीड़ बेकाबू हो गई और भगदड़ के बीच मारपीट शुरू हो गई। इसमें दर्जनों लोगों के घायल हो गए। सूचना पाकर मौके पर बड़ागांव पुलिस सहित अन्य थानों की फोर्स पहुंच गई और किसी प्रकार वहां से उद्घाटन करने वाले पूर्व सांसद रमाकांत यादव को सकुशल बाहर निकाला। वहीं, मौके पर इंट्री फीस देकर प्रतियोगिता में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को थानाध्यक्ष ने पैसे वापस करने का आश्वासन दिया। भगदड़ और मारपीट के बाद आयोजन का रद्द कर दिया गया।