देवरिया जिले मे फर्जी डिग्री पर कार्य कर रहे 20 टीचर बर्खास्त

एफआईआर का आदेश, सरकारी धन की भी होगी रिकवरी शिक्षा विभाग मे मचा हडकंप
प्रखर देवरिया ब्यूरो। देवरिया जिले के शिक्षा विभाग में इस समय हड़कंप मचा हुआ है. दरअसल, आठ महीने की लंबी जांच के बाद जिले के 20 टीचरों को बर्खास्त कर दिया गया है. यह जांच यूपी एसटीएफ और शिक्षा विभाग के अफसरों ने मिल कर की थी. उधर, अभी भी कई टीचर स्कूलों से छुट्टी लेकर लापता बताए जा रहे हैं. बेसिक शिक्षा विभाग ऐसे शिक्षकों के पीछे लगा है. यह सभी टीचर 2016-2017 के भर्ती हुए थे. यूपी में फर्जी शिक्षकों की जांच एसटीएफ भी कर रही थी. जिले के तीन टीचर फर्जी प्रमाणपत्रों के सहारे स्कूलों में कार्य कर रहे थे, लेकिन जब एसटीएफ ने जांच की तो पूरा फर्जीवाड़ा खुलकर सामने आ गया। बेसिक शिक्षा विभाग ने भी कई संदिग्ध टीचरों के प्रमाणपत्रों की जांच करवाई तो 17 टीचर फर्जी डॉक्यूमेंट के सहारे नौकरी करते पाए गए. कुल मिलाकर अब तक 20 टीचरों को नौकरी से बर्खास्त किया जा चुका है। बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रकाश नरायण श्रीवास्तव ने बताया कि लंबी जांच पड़ताल के बाद 20 टीचरों के खिलाफ बर्खास्तगी की कार्रवाई की गई है. सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर सरकारी धन की रिकवरी भी की जाएगी।  यह सभी टीचर जालसाजी के सहारे नौकरी कर रहे थे।