पंचायत चुनावों में उतरने की तैयारी कर रही कांग्रेस

– जिला पंचायत में उतरने वाले प्रत्याशियों को विधानसभा में भी मौका

– प्रियंका गांधी पंचायत चुनाव को लेकर सबसे ज्यादा सक्रिय

प्रखर लखनऊ। उत्तर प्रदेश के विधानसभा और लोकसभा चुनाव में बहुत ही दयनीय प्रदर्शन करने वाली कांग्रेस नागरिकता संशोधन कानून के सहारे उत्तर प्रदेश में अपनी जमीन तलाश रही है। लगे हाथ उसके सामने उत्तर प्रदेश में होने वाले 2021 के पंचायत चुनाव भी हैं। ऐसे में कांग्रेस पंचायत चुनाव में उतरने के लिए तैयार दिखाई दे रही है । बता दें कि इसके पहले भारतीय जनता पार्टी ने भी पंचायत चुनाव में सीधे उतरने की बात कही थी। खबर आ रही है कि कांग्रेस लोगों को लुभाने के लिए पंचायत चुनाव में उतरने वाले प्रत्याशियों को ही विधानसभा में मौका देने की बात कह रही है। पार्टी 2022 के विधानसभा चुनाव के लिए अपनी नींव को मजबूत करने के लिए जिला पंचायत चुनाव में जिन प्रत्याशियों को उतारा जाएगा, उन्हें विधानसभा चुनाव में भी मौका मिलेगा। पार्टी ने 13 सदस्यों का एक ग्रुप भी बनाया है, जिसका काम न सिर्फ चुनावी तैयारी को धार देना है बल्कि पंचायत चुनावों में काबिल उम्मीद्वारों को चुनना भी है। कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के सक्रिय होने के बाद अब यूपी में हर चुनाव महत्वपूर्ण है। इसीलिए 1989 के बाद पहली बार कांग्रेस पंचायत चुनाव में भी उतर रही है। 2022 चुनाव से पूर्व कांग्रेस पार्टी पूरी शिद्दत से पंचायत चुनावों में फतह हासिल करने की कोशिश करेगी, साथ ही जमीनी स्तर पर अपनी पार्टी की स्थिति को भी परखेगी।