वाराणसी में दो संवासिनियां दीवार कूदकर फरार,एक पकड़ी गई दूसरी की तलाश जारी!

– जैतपुरा राजकीय संवासनी गृह का मामला

– दो सुरक्षाकर्मियों और चार होम सहित चार को

प्रखर वाराणसी। वाराणसी और संवासनी का बड़ा गहरा नाता सदियों से रहा है। बनारस की पहचान यहां रहने वाले लोगों से होती रही है। अनादिकाल से यहां संवासनी गृह रहे हैं । जहां देश के कोने कोने से आकर लोग मोक्ष प्राप्त करते रहे हैं । डेढ़ दशक पहले बनारस की में हुए संवासनी कांड ने यहां के तमाम बड़े-बड़े सफेदपोशों के चेहरे से नकाब उतार दिया था। अब मामला वाराणसी के जैतपुरा में स्थित राजकीय संवासनी गृह का है जहां से दो संवासनियां दीवार फांद कर फरार हो गई थी । जिनमें से एक संवासनी को पकड़ लिया गया है। जबकि दूसरी अभी तक फरार बताई जा रही है। जानकारी के अनुसार वाराणसी के जैतपुरा स्थित राजकीय पाश्चात्यवर्ती देख-रेख गृह की सुरक्षा व्यवस्था को धता बताते हुए दो संवासिनियां वहां से फरार हो गईं।
संवासिनी के लापता होने की सूचना मिलने के बाद देख-रेख गृह की अधीक्षिका सरोज सिंह की तहरीर पर जैतपुरा थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है । बता दें कि जैतपुरा स्थित राजकीय पाश्चात्यवर्ती देख-रेख गृह में 54 संवासिनी रह रही थीं। इनमें से दो संवासिनी सुबह करीब साढ़े 4 बजे देख-रेख गृह परिसर से बाहर भागने में सफल रहीं। जिला प्रोबेशन अधिकारी प्रवीण कुमार त्रिपाठी ने बताया कि तलाश के बाद एक 35 वर्षीय संवासिनी को बरामद कर लिया गया है जबकि 25 वर्षीय दूसरी संवासिनी का अभी पता नहीं लगा है। प्रवीण कुमार के मुताबिक लापता संवासिनी को जून 2019 में प्रयागराज से वाराणसी के देख-रेख गृह में लाया गया था। वहीं इस मामले में
लापरवाही बरतने वाले चार होमगार्ड और देखरेख गृह के दो कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए रिपोर्ट भेज दी गई है। तो ठीक तरीके से निगरानी न करने के आरोप में संवासिनी गृह अधीक्षिका को भी प्रतिकूल प्रविष्टि दी गई है।