मार्च के बाद सीवर हुआ ओवरफ्लो तो नपेंगे जिम्मेदार

-नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ने अधिकारियों को चेताया

– अब लापरवाही नहीं की जायेगी बर्दाश्त

प्रखर वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में सीवर लीकेज की समस्याएं आम जनता को लगातार परेशान करती रही है। लेकिन इसके बावजूद अधिकारी इस मामले को लेकर लगातार लापरवाह बने हुए हैं।
लगातार शिकायत के बावजूद इस मामले पर संज्ञान लेते हुए उत्तर प्रदेश के नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ने अधिकारियों को जमकर फटकार लगायी। बुधवार को सर्किट हाउस में समीक्षा बैठक में नगर विकास मंत्री ने कहा कि 31मार्च तक किसी भी हाल में शहर की सीवर व्यवस्था को दुरुस्त कर लिया जाये। निर्धारित अवधि के बाद सड़क पर सीवर ओवरफ्लो बहता हुआ दिखायी दिया तो जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। बतादें कि नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ने जलकल सचिव को निर्देश देते हुए कहा कि सीवर व्यवस्था को ठीक करने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ सरकार ने अतिरिक्त सुविधाओं को स्वीकृत किया है। वाराणसी दौरे पर आए नगर विकास मंत्री से स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने मुलाकात कर अपने अपने क्षेत्र की समस्याओं से अवगत कराया है। वहीं दूसरी तरफ मंत्री द्वारा उन्हें इन समस्याओं के निदान के लिए आश्वासन भी मिला है । अब देखना यह है कि क्या मार्च 2020 के बाद बनारस में ओवरफ्लो की समस्या खत्म हो जाती है या फिर यह बयान भी व्यवस्था का शिकार हो जाता है।