कोरोना वायरस की बिहार के साथ यूपी मे भी आहट, हाई एलर्ट

बिहार में चार और उत्तर प्रदेश में एक संदिग्ध संक्रमित मिला

हर जिले में आइसोलेशन वार्ड बनाएं- योगी आदित्यनाथ

प्रखर डेस्क। बिहार और उत्तर प्रदेश में नए मामले सामने पर केंद्र सरकार की चिंता बढ़ गई है। सभी राज्यों में अतिरिक्त सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। सोमवार को केंद्रीय कैबिनेट सचिव ने सभी मंत्रालयों के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। हवाईअड्डों पर जांच के साथ अब जहाजरानी मंत्रालय उन अंतरराष्ट्रीय बंदरगाहों पर लोगों की जांच आरंभ करेगा जहां चीन से लोग आते हैं। चीन में फैल रहा जानलेवा 2019-एनसीओवी कोरोना वायरस से अब तक 80 मौतें हो चुकी है। 11 देशों में दशहत फैला चुके इस वायरस की आहट उत्तर प्रदेश और बिहार तक भी पहुंच गई है। बिहार में चार और उत्तर प्रदेश में एक संदिग्ध संक्रमित मिला है। इससे पहले केरल, महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और राजस्थान में पहले ही संदिग्ध संक्रमित मिल चुके हैं। अब बिहार से कोरोना वायरस के चार संदिग्ध मरीज मिले हैं। इनमें चीन से 22 जनवरी को लौटी सारण जिले की मेडिकल छात्रा भी शामिल है। चीन के तिआन्जिन प्रांत से छपरा आई शोध छात्रा को पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल के एकांत वार्ड में भर्ती कराया गया है। इसके अलावा दो संदिग्ध सीतामढ़ी और एक मुजफ्फरपुर का निवासी है। मुजफ्फरपुर निवासी संदिग्ध का चीन से लौटने के बाद दिल्ली में इलाज चल रहा है। वहीं, सीतामढ़ी निवासी एक अन्य मरीज अभी चीन में ही है। चीन में शिक्षा, रोजगार व अन्य क्षेत्रों से जुड़े बिहार के करीब 800 लोग रह रहे हैं। इनमें करीब छह सौ मेडिकल के छात्र शामिल हैं। ताजनगरी में कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने एलर्ट घोषित किया है। विभाग ने एयरपोर्ट अथॉरिटी से बीते एक माह में चीन से आगरा आए लोगों की जानकारी मांगी है। विभाग उनसे संपर्क करके सेहत का हालचाल जानेगा। अस्पतालों में बचाव और इलाज के इंतजाम किए गए हैं। वही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चीन में फैले कोरोना वायरस के मद्देनजर अधिकारियों को सतर्कता बरतने के खास निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने ये निर्देश सोमवार को स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते हुए दिए। मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से कहा कि हर जिला अस्पताल एवं मेडिकल कालेज में दस बेड के आइसोलेशन वार्ड बनाए जाएं। इंडो-नेपाल स्पेशल बार्डर पर कड़ी सतर्कता बरती जाए। एयरपोर्ट पर विशेष सतर्कता बरती जाए, खासतौर पर इंटरनेशनल हवाई अड्डों पर, जहां विदेशों से लोग आ रहे हैं। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने ये भी निर्देश दिए कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से लगातार संपर्क स्थापित करके समन्वय बनाकर सारी कार्रवाई की जाए। बतादे कि चीन से महराजगंज के एक छात्र की घर वापसी के बाद शनिवार देर रात अधिकारी जांच के लिए उसे जिला अस्पताल ले आए। उसे एकांत वार्ड में निगरानी में रखा गया है। लक्ष्मीपुर निवासी आसिफ चीन में मेडिकल की पढ़ाई कर रहा है। वह परीक्षा के बाद एक महीने की छुट्टी पर 14 जनवरी को घर आया था। स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि संक्रमण की स्थिति जांच के बाद ही साफ होगी।