प्रदेश में पीएफआई के सदस्यों की गिरफ्तारी में मेरठ के बाद वाराणसी सबसे आगे

पूर्वांचल के वाराणसी से 20 तो जौनपुर से एक पीएफआई का संदिग्ध सदस्य गिरफ्तार

प्रखर वाराणसी। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर पीएफआई द्वारा किए गए प्रदर्शन में सरकार द्वारा लगातार कार्रवाई की जा रही है। पूरे प्रदेश में चलाए गए अभियान के तहत कुल 13 जिलों में पीएफआई के 108 कार्यकर्ताओं और समर्थकों को गिरफ्तार किया गया है। बहरहाल बता दें कि इनमें सर्वाधिक मेरठ जिले से पीएफआई के सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है। वही पूर्वांचल के वाराणसी से 20 पीएफआई सदस्यों को गिरफ्तार किया गया, तो जौनपुर से सिर्फ एक संदिग्ध को गिरफ्तार कर पूछताछ की गई। मामले के बाद वाराणसी के एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया कि 19 व 20 दिसंबर को हुई घटना के बाद लोगों को भड़काने में पीएफआई का नाम सामने आया था। इसी के बाद से ही पीएफआई से जुड़े सदस्यों की धरपकड़ शुरू की गई और इन लोगों के फोन भी सर्विलांस पर लगाए गए थे। जिसके बाद कार्रवाई करने में आसानी हुई। वही जौनपुर के शाहगंज कोतवाली क्षेत्र के सहारे गांव से शनिवार को उठाए गए दो संदिग्धों में से एक नाबालिग को पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया, व दूसरे संदिग्ध से आईबी के अधिकारियों ने पूछताछ की और उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। सीएएए के विरोध प्रदर्शन में शामिल रहने के कारण इस पर मुकदमा दर्ज करके इसका चालान किया गया। 18 वर्षीय साजिद अहमद को पुलिस ने पीएफआई का सदस्य होने के बाद खुफिया सूचना पर उठाया था। बता दें कि साजिद पीएफआई का सक्रिय सदस्य बताया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ साजिद की मां का कहना है कि पुलिस मेरे बेटे को जबरन फंसा रही है। मेरा बेटा उसरहटा गांव स्थित एक हाई स्कूल में हाई स्कूल में पढ़ता है और वह अभी नाबालिक है। दूसरी तरफ लखनऊ में डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी में बताया कि पिछले 4 दिनों से अभियान चलाकर सभी की गिरफ्तारी की जा रही है। 19 व 20 दिसंबर की घटना में पीएफआई के प्रदेश अध्यक्ष और कोषाध्यक्ष सहित 25 कार्यकर्ताओं को पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया है। पंजीकृत मुकदमों की विवेचना के दौरान नाम आने पर अभियान चलाकर कुल 13 जिलों से 108 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है। इनमें सर्वाधिक मेरठ व वाराणसी से हैं। इसके अलावा बहराइच से 16 लखनऊ से 14 गाजियाबाद से नौ शामली से सात मुजफ्फरनगर से6 कानपुर से पांच बिजनौर से चार सीतापुर से 3 गोंडा और हापुड़ से एक- एक गिरफ्तारी की गई है। वहीं अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने कहा कि यह संगठन देश विरोधी गतिविधियों में शामिल है, इसीलिए कार्यवाही की गई है।