उच्च प्राथमिक विद्यालय में साफ सफाई करते बच्चे सफाई कर्मी नदारद, संबंधित मौन (वीडियो)

केराकत विकासखंड के बरईछ (शिवालय) उच्च प्राथमिक विद्यालय का है मामला
प्रखर चंदवक जौनपुर। स्थानीय क्षेत्र के बरईछ  उच्च प्राथमिक विद्यालय में साफ सफाई करते बच्चों का वीडियो प्राप्त हुआ है, जिसमें झाड़ू लगाते बच्चे विद्यालय परिसर में साफ दिखाई दे रहे हैं और अध्यापक खड़े होकर झाड़ू लगाते दिख रहे हैं। बता दें कि यह विद्यालय केराकत विकासखंड के बरईछ गांव के शिवालय पुरा में स्थित है, जहां पर बच्चों द्वारा झाड़ू लगाया जा रहा है। सफाई कर्मियों की बात करें तो सफाई कर्मी कभी नहीं दिखाई देते। गांव वालों का यह आरोप है कि आज तक हम लोगों ने सफाई कर्मी को नहीं देखा और ना ही कभी आकर उसने साफ सफाई की। बताते चलें कि इन दिनों पूरे प्रदेश में प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालय में किसी न किसी तरह की खबर प्रकाश में आ जाती है। अभी कुछ दिन पूर्व ही एक प्राथमिक विद्यालय के मिड डे मील में की दाल में 3 वर्षीय बच्चे की गिरकर मौत हो जाने के बाद काफी हंगामा हुआ था। आपको जानकारी दे दे कि  सरकार द्वारा प्रत्येक गांव में दो सफाई कर्मियों की नियुक्ति की गई है, लेकिन कहीं भी सफाई कर्मी साफ सफाई करते नहीं दिखते।
लोगों का कहना है कि सफाई कर्मी सूट-बूट पहन कर आते हैं और प्रधान से मिलकर अपनी हाजिरी लगा कर निकल जाते हैं। साथ ही सूत्रों से यह भी जानकारी मिलती है कि सफाई कर्मी संबंधित अधिकारी व प्रधान को पैसा देकर अपनी हाजिरी लगाते हैं और तनख्वाह निकाल कर मजे करते हैं। जो कि सरकार इनको सफाई कर्मी के नाम पर मोटी तनख्वाह भी देती है। लेकिन यह अपने दायित्वों का निर्वहन उचित ढंग से नहीं करते। लोगो का कहना है कि सफाई कर्मी का कार्य पूरे ग्राम सभा में प्राथमिक विद्यालय, उच्च प्राथमिक विद्यालय, सार्वजनिक स्थान व मंदिर इत्यादि स्थानों पर साफ-सफाई करना व देखरेख करना होता है। लेकिन कोई भी सफाई कर्मी इस तरह के कार्य करते नहीं दिखाई देता। कहीं पर अगर कार्य होता भी है तो सफाई कर्मी सूट-बूट पहन कर आता है और गांव के ही किसी मजदूर को कुछ पैसे देकर साफ सफाई करवा देता है।