सत्याग्रही पदयात्री भूख हड़ताल पर

– सरकार पर लगाया मनमानी करने का आरोप

प्रखर गाजीपुर। सत्याग्रही पदयात्रियों को गाजीपुर के मरदह थाना से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। जिसके बाद एसडीएम सदर द्वारा उनकी रिहाई के संदर्भ में असंवैधानिक शर्तें लगाने का आरोप लगाते हुए इन सत्याग्रही पद यात्रियों ने 13 फरवरी शाम 5:00 बजे से अनशन पर जाने का ऐलान कर दिया है। जिलाधिकारी को जेल अधीक्षक के माध्यम से लिखे पत्र में इन सत्याग्रहियों ने कहा है कि वह अपने मौलिक अधिकारों की रक्षा के लिए अन्न का परित्याग करते हुए रिहाई तक अनशन पर बैठेंगे। बता दें कि इसके पहले समाजसेवियों और छात्रों के एक प्रतिनिधिमंडल इन सत्याग्रही पदयात्रियों से जेल में मिलकर उनका कुशल क्षेम लिया । बता दें कि इन सत्याग्रही पदयात्रियों पर नागरिकता संशोधन कानून पर भ्रामक प्रचार और सहित्य बाँटने का आरोप लगाते हुए गाजीपुर पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया है। इस पदयात्रा में कुल 9 लोग शामिल हैं इसके अलावा इस पदयात्रा को फ्रीलांस जर्नलिस्ट प्रदीपिका सारस्वत कवर कर रही थी उन्हें भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इस सत्याग्रह पदयात्रा के संयोजक मनीष शर्मा उनके सहयोगी शेष नारायण ओझा, अतुल यादव, प्रिवेश कुमार पांडेय, नीरज राय,राज अभिषेक, रविंद्र कुमार रवि, मुरारी कुमार, अनंत शुक्ला पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए हैं इन सभी ने सर्वसम्मति से भूख हड़ताल करने का फैसला लिया है । बता दें कि गाजीपुर जिला जेल में सत्याग्रही पदयात्रियों से जिस प्रतिनिधि मंडल ने मुलाकात की उसमें विकास सिंह, विपिन मिश्रा, जनक कुशवाहा,डॉ शम्मी सिंह ,माधव कृष्ण ,अनुराग पांडेय, जयप्रकाश यादव, रजत सिंह और जय मौर्या शामिल रहे।