सत्याग्रही आंदोलनकारियों के समर्थन में उपवास रखने वाले छात्र नेताओं पर लाठीचार्ज

– डॉक्टर शम्मी सिंह, डॉ विकास सिंह सहित दर्जनों छात्र नेता गिरफ्तार

– छात्रों को उठाकर पुलिस लाइन ले जाया गया, मुकदमे की तैयारी

प्रखर गाजीपुर। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के चौरीचौरा से सत्याग्रह की शुरुआत करने वाले बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के 7 छात्रों समेत कुल 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया है जिसमें एक महिला पत्रकार भी शामिल हैं। पुलिस की इस कार्रवाई के बाद गाजीपुर के छात्र आंदोलित हो गये। छात्रों ने इन सत्याग्रही पदयात्रियों के समर्थन में 15 जनवरी से भूख हड़ताल कर सत्याग्रह को समर्थन देने का ऐलान किया था। जिसके बाद हरकत में आई गाजीपुर पुलिस ने एक बार फिर दमनात्मक कार्रवाई करते हुए आंदोलन करने वाले छात्रों को लाठीचार्ज कर तितर-बितर कर दिया और छात्रों को उठाकर पुलिस लाइन ले जाया गया है इसके बाद इन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है । आंदोलन करने वाले छात्रों के मोबाइलों को स्विच ऑफ करा दिया गया है इसके अलावा अब उन पर मुकदमे लादने की तैयारी की जा रही है। सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार गाजीपुर जनपद में भारी संख्या में आसपास के जिलों से पुलिस बलों को बुला लिया गया है। बता दें कि इसके पहले छात्र नेताओं ने इस आंदोलन की चेतावनी जिला प्रशासन को भी दी थी जिला प्रशासन ने अतिरिक्त पुलिस बल मंगाते हुए छात्र आंदोलन को कुचलने का काम किया है। गिरफ्तार होने वाले छात्रों में डॉक्टर शम्मी सिंह, डॉ विकास सिंह, पंकज उपाध्याय, जे पी यादव ,आशुतोष गुप्ता एवं शमीम अंसारी मुख्य रूप से शामिल हैं। जानकारी के अनुसार यह सभी छात्र नेता पूर्व नियोजित कार्यक्रम के अनुसार गाजीपुर के सरयू पांडे पार्क में सत्याग्रह अनशन की तैयारी कर रहे थे। लेकिन भारी संख्या में पहुंची पुलिस ने उन्हें लाठीचार्ज कर तितर-बितर करते हुए गिरफ्तार कर लिया।