बुद्धम शरणम में एक बार फिर नकल करते पकड़े गए छात्र

– बड़ा सवाल बुद्धम शरणम को कैसे बनाया गया परीक्षा केंद्र

– टीईटी परीक्षा के दौरान प्राचार्य समेत विद्यालय के 5 लोग हुए थे गिरफ्तार

प्रखर गाजीपुर । सूबे की योगी सरकार भले ही प्रदेश में नकल विहीन परीक्षा कराने के लिए कटिबद्ध दिखाई दे रही हो । लेकिन सरकार के मंसूबे पर गाजीपुर में पहले से ही नकल के लिए कुख्यात बुद्धम शरणम विद्यालय में एक बार फिर नकल करते छात्र पकड़े गए हैं । बता दें कि इसके पहले टीईटी परीक्षा के दौरान भी बुद्धम शरणम विद्यालय में प्राचार्य समेत विद्यालय के 5 लोग नकल कराने में सम्मिलित थे। जिन्हें एसटीएफ ने पकड़ा था। इसके बाद विद्यालय पर कार्रवाई भी हुई थी । बावजूद इसके बुद्धम शरणम में एक बार फिर परीक्षा केंद्र बनाकर शिक्षा माफियाओं ने प्रदेश की योगी सरकार को कटघरे में खड़ा कर दिया है। गौरतलब है कि दिनांक 20.02.2020 को जनपद गाजीपुर में प्रथम पाली में मूलचंद इंटर कालेज में केंद्र व्यवस्थापक सहित दो कक्ष निरीक्षकों को नकल में संलिप्त पाये जाने पर तत्काल कार्यमुक्त करते हुए उनके विरुद्ध जिला विद्यालय निरीक्षक द्वारा एफआईआर दर्ज करा दिया था। साथ ही सम्बंधित के विरुद्ध गैंगस्टर की कार्यवाही करते हुए नकल कराकर अर्जित की गयी सम्पत्ति की कुर्की करने का भी आदेश दिया गया है । वहीं  दूसरी पाली में पं परमेश्वर कालेज में दो फर्जी छात्र एवं एक बुद्धम शरणम मे फर्जी छात्र पकड़े गये और उनके विरुद्ध भी प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करायी गयी । इसके अलावा जयनाथ इंटर कालेज खेमपुर से 500 मीटर दूर एसटीएफ द्वारा 21 कापियां पकड़ी गयी जिसमें विद्यालय के प्रधानाचार्य एवं कम्प्यूटर आपरेटर को गिरफ्तार किया गया और उनके विरुद्ध विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत करते हूए गैंगस्टर की भी कार्यवाही की गयी है । इनकी सम्पत्ति की कुर्की भी की जाएगी। केदारनाथ इंटर कालेज धुवार्जुन के केन्द्रव्यवस्थापक को शिथिलता के आरोप में तत्काल हटाकर दूसरा केन्द्रव्यवस्थापक बना दिया गया । बड़ा सवाल यह है कि आखिर सरकार के तमाम प्रयास के बावजूद भी शिक्षा माफिया अपने मंसूबे में कैसे कामयाब हो रहे हैं। शिक्षा विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों की मिलीभगत से ही तमाम ऐसे संदिग्ध और नकल के लिए कुख्यात विद्यालयों को भी परीक्षा केंद्र बना कर मनमानी की जा रही है। ऐसे में नकल विहीन परीक्षा की परिकल्पना बेमानी साबित हो रही है।