अडानी वॉलमार के मैनेजर के खाते से 80 हजार की ठगी

प्रखर वाराणसी। जिस तरह से दिनों-दिन टेक्नोलॉजी बढ़ती जा रही है उसी तरह से ठगी के मामले भी प्रकाश में आते रहते हैं । जैसे जैसे सोशल मीडिया या फिर एटीएम से लेनदेन ऑनलाइन लेनदेन इत्यादि तरीकों से लोगों का लेनदेन आसान होता गया है। उसी तरह ठगी का भी मामला आए दिन देखने को मिलता है। ऐसा ही एक ठगी का मामला वाराणसी में सामने आया है। जहां पर अडानी वॉलमार के एरिया मैनेजर के खाते से ₹80000 की ठगों ने ठगी कर डाली। बता दे कि विष्णु दत्त पांडे द्वारा कैंट थाने में तहरीर देकर बताया गया है कि एक पार्सल मुझे डीटीडीसी कोरियर से आना था। जिसके लिए मैंने उसके कस्टमर केयर नंबर पर इंक्वायरी की जिस पर पूरी बात नहीं हो सकी। वहीं कुछ देर बाद एक दूसरे नंबर से फोन आया कि मैं डीटीडीसी कूरियर कस्टमर केयर से बोल रहा हूं। आप इस खाते में ₹10 ट्रांसफर करिए, तो आपका कोरियर आपके यहां पहुंच जाएगा। जिसके कुछ ही देर बाद मेरे खाते से करीब ₹80000 गायब हो गए। इस बाबत विष्णु दत्त पांडे ने बताया कि कस्टमर केयर के नंबर से मेरे चाचा को फोन आया कि आपका कोरियर पहुंच जाएगा , लेकिन ₹10 इस खाते में यूपीआई के द्वारा ट्रांसफर करने होंगे, तो आपका पता रजिस्टर्ड हो जाएगा और कोरियर पहुंच जाएगा। जिसके कुछ ही देर बाद ₹10 ट्रांसफर करने के कुछ ही समय पस्चात तीन बार में करीब ₹80000 खाते से गायब हो गए। इस पर चाचा ने बताया तो जाकर पता चला कि उनके साथ साइबर ठगी हो गई है। इस मामले में थानाध्यक्ष का कहना है कि ऐसे मामले आए दिन आते रहते हैं, ज्यादातर मामलों का निस्तारण होना मुश्किल ही होता है। कई मामलों में मैंने विवेचना की लेकिन इसमें कोई सफलता हाथ नहीं लगी। बतादे कि लोग कई बार लालच बस आककर कुछ लोगों द्वारा फोन पर बताए गए एप्लीकेशन डाउनलोड करने के बाद अपने खाते से रुपए गवा देते हैं।