बदल सकता है गाजीपुर का नाम !

0
101

बीजेपी नेता ने नाम बदलने को लेकर डिप्टी सीएम केशव मौर्या को सौंपा पत्रक

प्रखर गाजीपुर/ वाराणसी। उत्तर प्रदेश में जब से योगी आदित्यनाथ की सरकार बनी है, तब से कई जिलों का नाम बदल चुका है और कई जिलों का नाम बदलने की कतार में लगा हुआ है। वहीं बीजेपी नेताओं का यह तर्क है कि मुगल काल में जो नाम थे उसे बदलकर मुस्लिम शासकों ने दूसरा कर दिया, उसे ही हम लोग बदल कर पुनः वही कर रहे हैं। इसमें कोई हर्ज नहीं है। इसी क्रम में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश सह मीडिया प्रमुख नवीन श्रीवास्तव ने गाजीपुर का नाम बदलकर गाधिपुर करने की मांग की है, इसको लेकर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को पत्रक सौंपा गया है। बता दे कि नवीन का कहना है कि प्राचीन काल में महर्षि विश्वामित्र के पिता राजा गाधि के नाम से ही गाजीपुर को गाधिपुर के नाम से जाना जाता था। लेकिन मुस्लिम आक्रांताओं ने हिंदू राजा मांधाता को हराकर इस पर कब्जा कर लिया और गाधिपुर से इसका नाम गाजीपुर कर दिया। उन्होंने यह भी कहा कि मुस्लिम आक्रांताओं ने जीत के बाद गाजी की उपाधि से नवाजा गया और गाधिपुर को बदलकर गाजीपुर कर दिया गया। वहीं उनकी मांग है कि जिले का नाम फिर से गाजीपुर से गाधिपुर कर दिया जाए। जिससे गाजीपुर का प्राचीन गौरव पुनः लौट आने के लिए भाजपा के वरिष्ठ नेता व प्रवक्ता नवीन श्रीवास्तव ने गाजीपुर का नाम गाधिपुर करने की मांग उठाई है। उन्होंने इस संबंध में प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या को अनुरोध पत्र भी भेजा है, साथ ही उन्होंने उप मुख्यमंत्री के द्वारा अपील की है कि मुख्यमंत्री, गाजीपुर का नाम बदलने का काम करें। अब देखना यह है कि प्रदेश की बीजेपी व योगी आदित्यनाथ की सरकार इस पर कितना अमल करती है।