देश को योगी जी जैसे प्रशासक की जरूरत- योगी भक्त मनीष राजपूत

प्रखर वाराणसी। देश की राजधानी दिल्ली में मानवता दंगों की भेंट चढ़ चुकी है। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध की आड़ में वहां दंगाइयों ने मौत का नंगा नाच किया है। बता दें कि जनसंख्या की दृष्टि कोण से देश का सबसे बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश इस कानून के विरोध में सुलगता इसके पहले ही सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने अपनी प्रशासकीय क्षमता से इस कानून का विरोध करने वालों के तेवर ठंडे कर दिए । प्रदेश में कानून बनाकर उत्पात करने वाले लोगों की नकेल कसने का काम पहले ही कर दिया। जिस कारण उत्तर प्रदेश सबसे शांत प्रदेशों में शामिल है । इस संदर्भ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अनन्य भक्त मनीष राजपूत का कहना है कि मौजूदा समय में अगर दिल्ली में योगी आदित्यनाथ जैसा प्रशासक होता तो वहां दंगाइयों में इतनी हिम्मत नहीं होती कि वह ऐसे खुलेआम सड़कों पर आगजनी और हत्याएं करते। योगी भक्त मनीष का कहना है कि मौजूदा समय में जिस तरह से इस्लामिक चरमपंथियों ने पूरे देश में कानून व्यवस्था को तितर-बितर कर दिया है। ऐसे में उत्तर प्रदेश में कानून का राज स्थापित होना इस बात का प्रमाण है कि योगी आदित्यनाथ को कई सर्वे में मिलने वाला सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री का खिताब खुद पर गर्व कर रहा होगा। बता दें कि मनीष राजपूत भारतीय जनता पार्टी और संघ की विचारधारा से जुड़े हुए ऐसे युवा समाजसेवी हैं जो हिंदुत्व और योगी आदित्यनाथ के प्रबल समर्थक हैं। पूर्वांचल ही नहीं संभवत उत्तर प्रदेश के अकेले ऐसे युवा हैं। जो योगी आदित्यनाथ के संदेशों को आत्मसात करने के साथ ही उसके प्रचार प्रसार में दिन रात लगे रहते हैं।