मऊ में धर्म परिवर्तन की सूचना पर पहुंची पुलिस, पादरी और एजेंट गिरफ्तार

-प्रार्थना सभा में उपस्थित थे पुरुष-महिला समेत सैकड़ों लोग

प्रखर मऊ। देश में अवैध तरीके से धर्म परिवर्तन पर भले ही पाबंदी हो लेकिन पैसे के लालच में दलाल लोगों का धर्म परिवर्तन कराने से नहीं कतरा रहे हैं। मामला पूर्वांचल के मऊ जनपद का है जहां प्रार्थना सभा के दौरान धर्म परिवर्तन का मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक मधुबन थाना क्षेत्र के दुबारी गांव में सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं कार्यक्रम स्थल पर उपस्थित लोगों ने बताया है कि सिर्फ वह लोग पूजा पाठ में शामिल हुए थे, जबकि मौके से बाइबल सहित ईसाई धर्म से जुड़े तमाम सामानों को पुलिस ने बरामद किया। पुलिस को सूचना मिली कि सैकड़ों की संख्या मे महिलायें दुबारी नयी बस्ती की मल्लाह टोली के कथित चर्च में इकट्ठा होकर प्रभु की प्रार्थना कर रही है, पादरी भी प्रार्थना सभा में शामिल था, जिसके बाद मौके पर पहुंचकर पुलिस ने कार्रवाई की। पुलिस ने पादरी सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया है। चर्चाओं के अनुसार मधुबन थाना क्षेत्र में हजारों लोग ईसाई हो चुके है। कथित चर्च सीधा अहिलासपूर, गुरूम्हा, दुबारी, धर्मपुर देवारा सहित कई स्थानों पर बिना सरकार के परमिशन के चल रहे हैं, जहां हर रविवार को धर्मान्तरण कराया जाता है। आरोप है कि इसाई धर्म प्रचारक चोरी छिपे औरतो का ब्रेनवॉश करते हैं और फिर रविवार के दिन बुलाकर विधिवत धर्म परिवर्तन करा दिया जाता है। बता दें कि इस तरह के धर्म परिवर्तन बीमारी के इलाज के नाम पर कराए जाते हैं लोगों को भ्रमित कर और पैसे का लालच देकर इलाज के नाम पर धर्म परिवर्तन कराया जाता है जो कि कानूनन अपराध है।