कांग्रेस सेवादल की किताब के आरोप पर बिफरे शिवसेना नेता संजय राउत

0
112
prakhar purvanchal
prakhar purvanchal
– किताब में सावरकर और गोडसे को बताया गया समलैंगिक
– संजय रावत ने कहा वो महान व्यक्ति थे
प्रखर मुंबई । महाराष्ट्र की राजनीति में धुर विरोधी रहे शिवसेना और कांग्रेस ने अपने राजनीतिक मतभेद भूलाते हुए बीजेपी को सत्ता से बाहर करने के लिए महाराष्ट्र में भले ही सरकार बना लिए हों। लेकिन आए दिन उनके बीच वैचारिक टकराहट होती रहती है। बता दें कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस सेवादल के कार्यक्रम में बांटी गई किताब पर प्रतिक्रिया देते हुए शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि “वीर सावरकर एक महान हस्ती थे और हमेशा रहेंगे। जिनके दिमाग में गंदे ख्यालात हैं, वे इसे साफ कर लें।  गौरतलब है कि कांग्रेस सेवा दल की किताब में कहा गया है कि नाथूराम गोडसे और सावरकर के बीच शारीरिक संबंध थे। इसी बयान पर शिव सेना के नेता संजय राउत ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। राउत ने कहा, एक वर्ग जो उनके खिलाफ बात करता रहता है, यह उनके दिमाग में गंदगी को दिखाता है, चाहे वो जो भी हों। दरअसल विनायक दामोदर सावरकर और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर एक विवादास्पद पुस्तिका में दावा किया गया है कि महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे के साथ हिंदू महासभा के सह-संस्थापक वीर सावरकर का शारीरिक संबंध था। गौरतलब है कि मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कांग्रेस द्वारा चलाए जा रहे अखिल भारतीय कांग्रेस सेवा दल के प्रशिक्षण शिविर में कथित रूप से ‘वीर सावरकर’ नाम की पुस्तिका का वितरण किया गया था। इसमें सावरकर के आसपास की कई घटनाओं, सवालों और विवादों का जिक्र है। इस किताब में डोमिनिक लैपिएरे और लैरी कॉलिन्स की ‘फ्रीडम एट मिडनाइट’ में उल्लेखित एक घटना का उल्लेख करते हुए कांग्रेस बुकलेट में कहा गया है, “ब्रह्मचर्य अपनाने से पहले नाथूराम गोडसे के शारीरिक संबंधों का केवल एक ही उल्लेख है। उनके (समलैंगिक रिश्ते) में उनके साथी वीर सावरकर थे।” सेवादल के इस किताब पर अब बीजेपी और कांग्रेस आमने-सामने हो गए हैं एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति शुरू हो गई है। बता दें कि तमाम आदर्शों की बात करने वाली राजनीतिक पार्टियों का असल चरित्र एक दूसरे पर कीचड़ उछालने वाला होता दिखाई दे रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here