कटक में रेल हादसा आठ डिब्बे पटरी से उतरे दर्जनों घायल

– मुंबई भुवनेश्वर एक्सप्रेस की मालगाड़ी से टक्कर

– कई गाड़ियों के रूट बदले, रेलवे ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर

प्रखर डेस्क । मिल रही जानकारी के अनुसार उड़ीसा के कटक में घने कोहरे के कारण मुंबई से आ रही लोकमान्य तिलक-भुवनेश्वर एक्सप्रेस ने एक मालगाड़ी को टक्कर मार दी है। जिसके बाद उसके 8 डिब्बे पटरी से उतर गए इस घटना में दर्जनभर लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। जबकि मामूली घायलों की संख्या सैकड़ों में है । इस घटना के बाद रेलवे प्रशासन ने हेल्प नंबर जारी करते हुए यात्रियों की सुविधाओं के लिए कई इंतजाम किए हैं। जानकारी के अनुसार
गुरुवार की सुबह कटक के नरगुंडी रेलवे स्टेशन के पास मुंबई-भुवनेश्वर लोकमान्य तिलक ने एक मालगाड़ी में टक्कर मार दी. घना कोहरा था और पीछे एक मालगाड़ी आ रही थी। इसी दौरान सुबह सात बजे मालगाड़ी का गार्ड वाला डब्बा खड़ी हुई ट्रेन से टकरा गई, इसी वजह से मुंबई-भुवनेश्वर लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस के डिब्बे पटरी से उतर गए। घायलों का इलाज नजदीकी अस्पताल में किया जा रहा है।
हादसे के बाद रेलवे ने हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं। कटक के लिए 0671-1072, खुर्दा रोड के लिए 0674-1072 नंबर हैं
वहीं, BBS/हेड क्वार्टर ऑफिस के लिए 18003457401/402 और पुरी के लिए 06752-1072 नंबर जारी किया गया है।

अधिकारियों के मुताबिक ट्रेन हादसे में 8 कोचों को नुकसान पहुंचा है। पांच कोच पटरी से उतर गये हैं जबकि 3 कोच ट्रैक से हल्की नीचे लुढ़क गई हैं। इस घटना में किसी की मौत की सूचना नहीं है। घटना के बाद स्थानीय लोगों ने घायलों की काफी मदद की और उन्हें उचित इलाज दिलाने में लगे रहे। स्थानीय लोगों ने घायलों को बस से कटक और भुवनेश्वर पहुंचाया । इस घटना के बाद कुछ ट्रेनों को डायवर्ट किया है. 12880 भुवनेश्वर-एलटीटी एक्सप्रेस, 58132 पुरी-राउरकेला पैसेंजर, 18426 दुर्ग-पुरी एक्सप्रेस, 12831 धनबाद-भुवनेश्वर राज्यरानी एक्सप्रेस और 68413 तलचर-पुरी एक्सप्रेस को नरज के रास्ते भेजा रहा है। बता दें कि 2020 का यह पहला रेल हादसा है । बीते साल रेल को हादसे के से बचाने के लिए मोदी सरकार ने तमाम कदम उठाए हैं । इसके बावजूद भी प्रकृति से लड़ना आसान नहीं है और घने कोहरे के कारण यह घटना सामने आई है। क्योंकि सामने मालगाड़ी से टक्कर हुई है इसलिए घायलों और इससे प्रभावित लोगों की संख्या कम दिखाई दे रही है।