बीजेपी के हुए सिंधिया, एमपी से राज्यसभा उम्मीदवार

मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार अल्पमत में

ज्योतिरादित्य सिंधिया को मंत्री पद भी केंद्र में दिया जा सकता है- सूत्र

प्रखर दिल्ली। तमाम अटकलों के बाद मध्य प्रदेश राजनीति के कद्दावर नेता व पूर्व कांग्रेसी ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बुधवार को बीजेपी का दामन थाम लिया। जेपी नड्डा की मौजूदगी में उन्होंने बीजेपी की प्राथमिक सदस्यता ली। बता दें कि होली के दिन ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देते हुए, कांग्रेस पर तमाम आरोप लगाए थे। जिसके बाद कयास लगाए जा रहे थे कि ज्योतिरादित्य सिंधिया जल्द ही भारतीय जनता पार्टी की प्राथमिक सदस्यता लेने और मात्र 24 घंटे बाद ही उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के सदस्य ग्रहण कर ली। वहीं मध्य प्रदेश की राजनीति में बड़ा उलटफेर होने की संभावना दिख रही है क्योंकि ज्योतिरादित्य सिंधिया के खेमे के तमाम विधायकों ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। इसके अलावा उन्होंने डीजीपी मध्य प्रदेश से अपनी सुरक्षा की मांग भी की है। अब देखना यह है कि मध्य प्रदेश कमलनाथ की सरकार अल्पमत में तो आ चुकी है, जो कब तक गिर सकती है। इसके साथ ही बीजेपी वहां पर सरकार बनाने के लिए एकदम तैयार खड़ी हुई है। बतादे कि बीजेपी में शामिल होने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह का शुक्रिया देते हुए कहा कि अपने परिवार में स्थान दिया, जिसके लिए मैं आभारी हूँ। सिंधिया बोले कि मेरे जीवन में दो तारीख काफी अहम रही हैं, इनमें पहला 30 सितंबर 2001 जिस दिन मैंने अपने पिता को खोया, वो जिंदगी बदलने वाला दिन है। और दूसरी तारीख 10 मार्च 2020 को जहां जीवन में एक बड़ा निर्णय मैंने लिया है। इसके अलावा सिंधिया बोले कि आज मन व्यथित है और दुखी भी है। जो कांग्रेस पार्टी पहले थी वो आज नहीं रही, उसके तीन मुख्य बिंदु हैं। पहला कि वास्तविकता से इनकार करना, नई विचारधारा और नेतृत्व को मान्यता नहीं मिलना। 2018 में जब एमपी में सरकार बनी तो एक सपना था, लेकिन वो बिखर चुका है। मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार ने वादे पूरे नहीं किए हैं। कांग्रेस में रहकर जनसेवा नहीं की जा सकती। आगे ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि आज मध्य प्रदेश में ट्रांसफर माफिया का उद्योग चल रहा है, राष्ट्रीय स्तर पर प्रधानमंत्री और गृह मंत्री ने मुझे एक नया मंच देने का मौका दिया है। बतादे कि बीजेपी पार्टी प्रमुख जेपी नड्डा ने इस दौरान कहा कि राजमाता सिंधिया जी ने भारतीय जनसंघ और भारतीय जनता पार्टी की स्थापना और विस्तार करने में बड़ी भूमिका निभाई थी। आज उनके पौत्र हमारी पार्टी में आए हैं। जेपी नड्डा ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया परिवार के सदस्य हैं, ऐसे में हम उनका स्वागत करते हैं। इसके बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ली। और उनको पार्टी प्रमुख जेपी नड्डा ने उन्हें बीजेपी की सदस्यता दिलवाई। कयास लगाए जा रहे है कि भारतीय जनता पार्टी मध्य प्रदेश से राज्यसभा के लिए ज्योतिरादित्य सिंधिया और हर्ष चौहान को भेज सकती है। सिंधिया के पार्टी ज्वाइन करने के साथ ही इसका जल्द ही एलान किया जाएगा। बताया जा रहा है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया की भाजपा में एंट्री के साथ ही पार्टी में नाराजगी की बात सामने आई है। मध्य प्रदेश बीजेपी के नेता प्रभात झा ने इस बारे में पार्टी आलाकमान को बताया है। बतादे कि दोपहर के घर से निकलते ही ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि आपको पता है कि मैं कहां जा रहा हूं। इस्तीफे के सवाल पर उन्होंने कहा कि मैं वहां पर ही मीडिया से बात करूंगा। इसके अलावा बतादे कि कर्नाटक के बेंगलुरु पहुंचे कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा ने बागी 19 विधायकों से मुलाकात की है, उन्होंने कहा कि कोई भी विधायक सिंधिया जी के साथ जाने के लिए तैयार नहीं हैं, ऐसे में कांग्रेस की सरकार बहुमत में है। सज्जन सिंह ने दावा किया कि विधायकों को मिसलीड करके बेंगलुरु लाया गया है। बतादे कि ज्योतिरादित कांग्रेस में कभी राहुल गांधी के करीबी रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया ने होली के दिन कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था, उनके बाद मध्य प्रदेश कांग्रेस के 22 विधायकों ने भी पार्टी छोड़ दी थी। बतादे कि इधर ज्योतिरादित्य सिंधिया ‘कमल का फूल’ थामने के लिए दिल्ली स्थित बीजेपी हेडक्वार्टर पहुंचे ही थे कि मध्य प्रदेश से उनकी राज्यसभा उम्मीदवारी का ऐलान हो गया। ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ हर्ष चौहान को भाजपा ने मध्य प्रदेश से अपना राज्यसभा उम्मीदवार घोषित किया है। भाजपा ने प्रभात झा और सत्यनारायण जटिया का टिकट काट दिया है। इससे प्रभात झा नाराज बताए जा रहे हैं। आपको बता दें कि प्रभात झा भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हैं। सिंधिया के अलावा भारतीय जनता पार्टी ने मध्य प्रदेश से हर्ष चौहान को राज्यसभा का उम्मीदवार बनाया है।