हरियाणा व पंजाब के किसानो का कृषि बिल के विरोध को लेकर दिल्ली कूंच, दिल्ली के सभी बॉर्डर सील नहीं चलेगी मेट्रो

0
207

 

प्रखर डेस्क। केन्द्र के कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब और हरियाणा के किसान गुरुवार और शुक्रवार को दिल्ली में धरना प्रदर्शन करने जा रहे हैं. किसानों के ‘दिल्ली चलो मार्च’ को नाकाम करने के लिए हरियाणा और पंजाब सरकार ने अपने बॉर्डर सील कर दिए हैं. पड़ोसी राज्य के साथ बस सेवा भी निलंबित कर दी गई है. हरियाणा पुलिस ने किसानों को दिल्ली पहुंचने से रोकने के लिए अंबाला और कुरुक्षेत्र में राष्ट्रीय राजमार्ग पर पानी की बौछारों का भी उपयोग किया. इसके साथ ही दिल्ली से लगी कुछ इलाकों की सीमा भी सील कर दी गई है.
भाजपा शासित हरियाणा ने किसानों के ‘दिल्ली चलो मार्च’ के मद्देनजर पंजाब के साथ अपनी बस सेवा बुधवार से तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दी है. हरियाणा के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने बताया, ‘हमने पंजाब के लिए रोडवेज सेवा अगले दो दिन के लिए निलंबित कर दी है। इस बाबत अधिकारियों ने बताया कि इस बीच बुधवार की शाम चंडीगढ़ ट्रांसपोर्ट अंडरटेकिंग ने भी किसानों के ‘दिल्ली चलो’ मार्च के मद्देनजर अगले दो दिन के लिए हरियाणा की अपनी बस सेवा निलंबित कर दी है. वहीं मेट्रो ने भी अपनी कुछ सेवाओं को गुरुवार के लिए रोका है. मेट्रो की ओर से कहा गया कि दिल्ली पुलिस के अनुरोध पर किसान रैली के कारण कोविड महामारी के मद्देनजर भीड़भाड़ से बचने के लिए गुरुवार को दोपहर 2 बजे तक लूप के जरिए सर्विस चलाई जाएंगी. दोपहर 2 बजे के बाद सभी लाइनों पर सर्विस पहले की तरह चलेगी। मेट्रो के अनुसार दोपहर 2 बजे तक दिल्ली से नोएडा, फरीदाबाद, गाजियाबाद और गुरुग्राम तक सर्विस एंड टू एंड नहीं चलेगी. मेट्रो ने कहा कि ब्लू लाइन पर गुरुवार सुबह से दोपहर दो बजे तक आनंद विहार से वैशाली और न्यू अशोक नगर से नोएडा सिटी सेंटर तक मेट्रो की सेवाएं बंद रहेगी. इसके साथ ही येलो लाइन पर सुल्तानपुर मेट्रो स्टेशन से लेकर गुरु द्रोणाचार्य मेट्रो स्टेशन तक भी सेवाएं बंद रहेगी।