आज़मगढ़ पुलिस के साथ मुठभेड़ में 1 लाख का ईनामी दुर्दांत अपराधी ढेर, एसआई सही दो पुलिस वाले जख़्मी

0
279

 

प्रखर आजमगढ़। गुरुवार की देर रात पुलिस मुठभेड़ में 1 लाख का दुर्दांत अपराधी पुलिस मुठभेड़ में उस समय मारा गया जब सरायमीर थाना क्षेत्र के शेरवा गांव के नहर के किनारे एक घर में छिपा था, और किसी बड़ी वारदात करने के फिराक में था, मुखबिर की सूचना मिलने पर पुलिस ने घेराबंदी की, इस दौरान दुर्दांत अपराधी सूर्यांश दुबे पुलिस पर फायर शुरू कर दिया। इसके बाद पुलिस ने अन्य अधिकारियों को सूचित किया सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह, डीआईजी सहित अन्य मौके पर पहुंच गए, इस दौरान दुर्दांत अपराधी सूर्यांश दुबे लगातार फायरिंग करता रहा, जबाब में पुलिस की जवाबी कार्रवाई में जहां सूर्यांश दुबे को पुलिस ने मार गिराया, वहीं इस मुठभेड़ में एसओजी के सब इंस्पेक्टर व सिपाही प्रदीप पांडेय भी घायल हो गए जिन का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है, पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मौके से एक पिस्टल व एक रिवाल्वर बरामद हुई वही दुर्दांत अपराधी सूर्यांश दुबे के मारे जाने के बाद शासन ने आजमगढ़ पुलिस को 2 लाख का इनाम देने की घोषणा की है पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह के मुताबिक दुर्दांत अपराधी लोगों से मैसेंजर के माध्यम से फिरौती मांगने का काम कर रहा था, पिछले दिनों एक आदमी से 5 लाख का डिमांड किया था, बता दें कि आजमगढ़ जिले के तरवा थाना क्षेत्र के बांसगांव के अनुसूचित जाति के प्रधान सत्यमेव जयते की हत्या के मुख्य आरोपी था, इस हत्याकांड को लेकर पुलिस की काफी किरकिरी हुई थी, मामले को लेकर जनपद में काफी दिनों तक राजनीतिक गतिविधिया भी गर्म थी, मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी को लेकर शासन का भी पुलिस पर काफी दबाव था, गुरुवार लगभग आधी रात को पुलिस ने मुख्य आरोपी को मुठभेड़ में ढेर कर क्षेत्र को एक दुर्दांत अपराधी से मुक्ति दिला दी। तरवां थाना क्षेत्र के 12 गांव के प्रधान की 14 अगस्त को बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी, साथ ही बेलगाम अपराधियों ने घर पर जाकर सूचना भी दी थी कि हमने प्रधान की हत्या कर दी है, दुर्दांत अपराधी सूर्यांश दुबे के मारे जाने के बाद आजमगढ़ और आसपास के जिलों के लोगों में काफी खुशी है, लोगों का कहना है कि आजमगढ़ पुलिस ने दुर्दांत अपराधी को मार कर समाज में एक अच्छा संदेश देने का कार्य किया है ।