870 करोड़ की पेयजल योजना 13 साल बाद भी नहीं हुई शुरू

प्रखर कानपुर/एजेंसी। जल निगम के परियोजना प्रबंधक शमीम अख्तर ने जिलाधिकारी को पत्र लिखकर सिविल लाइंस स्थित कचहरी क्षेत्र की आंतरिक गलियों में लीकेज ठीक करने के लिए रोड कटिंग की स्वीकृति मांगी है. लगभग तीन किलोमीटर क्षेत्र में खुदाई होनी है. वहीं, लीकेज ठीक होने के बाद सड़क निर्माण का काम जल निगम करेगा। जवाहर लाल नेहरू नेशनल अरबन रिन्यूवल मिशन के तहत 870 करोड़ की पेयजल योजना के 13 साल हो जाने के बाद भी चालू नहीं हो पाई है. वहीं, 40 हजार करोड़ लीटर में सिर्फ छह हजार करोड़ लीटर की जलापूर्ति हो पा रही है. घटिया पाइपों और टेस्टिंग के बीच पेयजल योजना फंसी होने के चलते जनता को खुदाई से निजात नहीं मिल पा रहा है. एक बार फिर कचहरी समेत नगर के छह मोहल्लों की सड़कें खोदी जाएंगी. इसके लिए जल निगम ने रोड कटिंग की स्वीकृति मांगी है. लगभग तीन किलोमीटर क्षेत्र में यह खुदाई होनी है. जल निगम लीकेज ठीक होने के बाद सड़क पर मोटरेबल का काम करेगी। जल निगम के परियोजना प्रबंधक शमीम अख्तर ने बताया कि नगर निगम जोन तीन के अधिशासी अभियंता से कई स्थानों पर निर्माण को लेकर स्वीकृति मांगी गई है. इन स्थानों में मुर्गा मार्केट, ढकनापुरवा और उसके आसपास के सभी क्षेत्रों की गलियां, साउथ एक्स माल के निकट नयापुरवा, किदवई नगर और आनंदपुरी की गलियां शामिल हैं. इनमें लीकेज को ठीक किए जाने के साथ ही रोड कटिंग का काम भी किया जाएगा. इसमें लगभग तीन महीने का समय लगेगा. खुदाई से इन क्षेत्रों की जनता को एक बार फिर से जूझना पड़ेगा।