ग़ाज़ीपुर- किसानों की समस्या हल करने के बजाय वर्तमान सरकार किसानों की बात को दबाना चाहती है- कांग्रेस जिलाध्यक्ष

0
300

प्रखर ब्यूरो गाजीपुर। कांग्रेस कार्यालय से कांग्रेसी नेताओं और कार्यकर्ताओं का किसान नेता एवं पूर्व प्रधानमंत्री स्व. चौधरी चरण सिंह की जयंती के अवसर पर जुलूस निकाल कर क्षेत्रीय सांसद व विधायकों के घर पहुंचकर ताली और थाली बजाकर किसान संगठनों के समर्थन में भाजपा की केंद्र सरकार को कुंभकर्णी नींद से जगाने के लिए बुधवार को प्रदर्शन करने का कार्यक्रम निर्धारित था। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार जैसे ही कार्यालय से कांग्रेस कार्यकर्ता और नेता निकले, पुलिस प्रशासन ने सभी को रोककर जबरदस्ती कार्यालय पर बैठा दिया और कार्यालय को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया। इससे कांग्रेसी किसान बिल के विरोध में प्रदर्शन नहीं कर सकें। इस अवसर पर कांग्रेस जिलाध्यक्ष सुनील राम ने कहा कि वर्तमान समय में विपक्ष को अपनी बात भी बोलने नहीं दिया जा रहा है। आम आदमी और किसान परेशान हैं। पूर्व प्रदेश सचिव व पीसीसी रविकांत राय ने कहा कि वर्तमान सरकार बिल्कुल बहरी हो गई है। किसी के हित की बात भी नहीं सुन रही है। सिर्फ अपनी मनमानी कर रही है। सच कहिए तो यूपी सीएम योगी जी इतने डरे हुए हैं कि जनता को हकीकत बताने से घबरा रहे हैं। लगता है कि प्रदेश में अघोषित इमरजेंसी की स्थिति हो गई है। किसानों की समस्या हल करने के बजाय वर्तमान सरकार किसानों की बात को दबाना चाहती है। प्रदेश में अराजकता का बोलबाला है, यह सरकार विपक्ष की बातें सुनना नहीं चाहती है।
इस अवसर पर डा. जनक कुशवाहा, राजीव कुमार सिंह, संटू जैदी, अजय कुमार श्रीवास्तव, लाल साहब यादव, ऊषा चतुर्वेदी, राजेश गुप्ता, राघवेंद्र, सतीश उपाध्याय, पूजा सिंह, रीता, विद्याधर पांडेय, पप्पू निषाद, आशुतोष गुप्ता, देवेंद्र सिंह, झुन्ना शर्मा, राहुल कुशवाहा, अयूब खान, राजेंद्र भारती, आदिल, शबीबूल हसन, टीपू आदि नेता कार्यकर्ता उपस्थित रहे।