ग़ाज़ीपुर- यदि आज चौधरी साहब होते तो किसानों को यह दुर्दशा न झेलनी पड़ती- सपा जिलाध्यक्ष

0
106

प्रखर ब्यूरो गाजीपुर। समाजवादी पार्टी के तत्वाधान में जिलाध्यक्ष रामधारी यादव की अध्यक्षता में पार्टी कार्यालय समता भवन पर देश के पांचवें प्रधानमंत्री एवं किसानों के मसीहा चौधरी चरण सिंह की जयंती बुधवार को मनाई गई। इस अवसर पर किसानों के मसीहा के चित्र पर पुष्पांजलि एवं माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की गई। गोष्ठी आरंभ होने के पूर्व पार्टी के सभी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने सार्वजनिक जीवन में नैतिकता और ईमानदारी का पालन करने एवं देश में आंदोलनरत किसानों की मांगों के समर्थन में लगातार संघर्ष करने का संकल्प लिया।
गोष्ठी में अपना विचार व्यक्त करते हुए सपा जिला अध्यक्ष रामधारी यादव ने कहा कि आज देश का किसान घोर संकट में है। मोदी सरकार की किसान विरोधी नीतियों के चलते देश का किसान सड़कों पर आंदोलनरत है, ऐसे समय इस देश का किसान चौधरी साहब को बड़ी शिद्दत से याद कर रहा है। वह महसूस कर रहा है कि यदि आज चौधरी साहब होते तो किसानों को यह दुर्दशा न झेलनी पड़ती। उन्होंने कहा कि चौधरी साहब मजदूरों व गरीबों के मसीहा थे। वह महान देशभक्त एवं भारत माता के सच्चे सपूत थे। उनकी भारतीय सभ्यता एवं संस्कृति के प्रति सच्ची श्रद्धा थी। उन्होंने चौधरी साहब के विचारों का उल्लेख करते हुए कहा कि चौधरी साहब कहा करते थे कि असली भारत गांव में बसता है। यदि देश को प्रगति के रास्ते पर ले जाना है तो पुरुषार्थ करना होगा और राष्ट्र तभी संपन्न हो सकता है, जब उसके ग्रामीण क्षेत्र का उन्नयन हो तथा ग्रामीण क्षेत्र की क्रय शक्ति अधिक हो। आगे उन्होंने कहा कि चौधरी साहब कहा करते थे कि जब तक किसानों की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होगी, तब तक देश की प्रगति संभव नहीं है। किसानों की दशा सुधरेगी तो देश सुधरेगा। वह भ्रष्टाचार के घोर विरोधी थे। कहा करते थे कि भ्रष्टाचार हमेशा ऊपर से आता है, भ्रष्टाचार की कोई सीमा नहीं है। जिस देश के लोग भ्रष्ट होंगे, देश कभी भी चाहे कोई भी लीडर आ जाए, चाहे जितना भी अच्छा कार्यक्रम चलाए, देश तरक्की नहीं कर सकता। जिलाध्यक्ष ने सभी कार्यकर्ताओं को राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के आह्वान पर 25 दिसम्बर को सभी गांवों में किसान घेरा कार्यक्रम के तहत सभी गांवों में घेरा डालकर किसान चौपाल लगाने का निर्देश दिया। कहा कि इस कार्यक्रम में लापरवाही कत्तई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। पूर्व सांसद जगदीश कुशवाहा ने चौधरी साहब को अनुशासन एवं न्यायप्रिय बताते हुए कहा कि चौधरी साहब ने अपना सम्पूर्ण जीवन भारतीयता और ग्रामीण परिवेश की मर्यादा में जिया। उनकी ख्याति एक ऐसे कड़क नेता के रूप में थी, जो प्रशासन में अक्षमता, भाई-भतीजावाद एवं भ्रष्टाचार को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करते थे। प्रतिभाशाली सांसद एवं व्यवहारवादी चरण सिंह जी वाकपटुता एवं दृढ़विश्वास के लिए जाने जाते थे। उत्तर प्रदेश में भूमि सुधार का पूरा श्रेय उन्हें जाता है। वह सामाजिक न्याय के प्रबल पक्षधर थे।
इस अवसर पर पूर्व जिलाध्यक्ष सुदर्शन यादव, डा. नन्हकू यादव, राजेश कुशवाहा, रामवृक्ष यादव, जिला पंचायत अध्यक्ष के प्रतिनिधि विजय यादव, मुन्नन यादव, गोपाल यादव, निजामुद्दीन खां, अशोक बिंद,अरुण कुमार श्रीवास्तव, दिनेश यादव, डा. समीर सिंह, राजेश गोड़, सुनील यादव, सिकंदर कनौजिया, सद्दाम खां आदि उपस्थित थे। इस गोष्ठी का संचालन जिला उपाध्यक्ष कन्हैया लाल विश्वकर्मा ने किया।