गुजरात एटीएस को बड़ी कामयाबी, 24 साल बाद दाऊद इब्राहिम का करीबी अब्दुल मजीद कुट्टी गिरफ्तार

0
212

प्रखर मुंबई। अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के करीबी गुर्गे को 24 साल बाद गुजरात एटीएस ने झारखंड से गिरफ्तार किया है। आरोपी अब्दुल मजीद कुट्टी मुम्बई के माहिम इलाके का रहने वाला है। गुजरात एटीएस को सूचना मिली थी कि यह झारखंड में छिपा हुआ है। इसे शनिवार को गिरफ्तार किया गया और गुजरात आगे की जांच के लिए लाया गया है। गुजरात एटीएस ने 23 दिसम्बर 1996 को गुजरात के मेहसाणा से 4 किलो त्क्ग्, 10 डेटोनेटर, 750 राउंड गोलियां, 113 मैगजीन्स, 75 पाकिस्तान मेड पिस्टल बरामद की थी। इस मामले में कुल 3 लोगों को गुजरात एटीएस ने गिरफ्तार किया था। जिसमें राजस्थान के रहने वाले मुहम्मद फजल सहित 2 मुम्बई के रहने वाले शख्स को गिरफ्तार किया था। लेकिन इस बड़ी खेप को गुजरात तक पहुचाने वाला मास्टरमाइंड अब्दुल मजीद कुट्टी एजेंसी के शिकंजे से बच निकला था। इस दौरान कुल 2.5 करोड़ का कुल माल जब्त किया गया था। गुजरात एटीएस सूत्रों के मुताबिक जांच में यह भी पता चला था कि 26 जनवरी 1997 को देश को दहलाने की साजिश के कहने पर दाऊद इब्राहिम ने इन गुर्गों की मदद से रची थी। इनका मकसद मुम्बई व देश के कुछ शहरों को निशाना बना कर बड़ी आतंकी साजिश को अंजाम देना था, लेकिन समय रहते। इनके नापाक इरादों की भनक लग गयी। अब्दुल मजीद कुट्टी ने फर्जी पहचान पत्र के जरिये जमशेदपुर का निवासी बन मोहम्मद कमाल बन गया, जिससे कि एजेंसीज के रडार पर न सके। अब्दुल देश छोड़ भाग गया जिसके बाद यह बैंकॉक, मलेशिया, थाईलैंड जैसे अलग अलग कई देशों में रहा। यहां तक कि गुजरात एटीएस के मुताबिक यह छोटा शकील, इकबाल कासकर, इकबाल मिर्ची, दाऊद इब्राहिम सहित अंडरवर्ड के कई लोगों के संपर्क में रहा। इसमें से कइयों से मुलाकात भी की थी। गुजरात एटीएस सूत्रों के मुताबिक, यह मुम्बई के माहिम का रहने वाला अब्दुल मजीद का नेटवर्क अब भी मुम्बई में सक्रिय है जहां यह कुछ लोगों के संपर्क में भी रहा है। अब इसकी गिरफ्तारी के बाद ।ज्ै यह जानना चाहेगी कि किन किन लोगों के संपर्क में यह भगोड़ा होने के बाद संपर्क में रहा। अंडवर्ल्ड किस तरह सक्रिय है, यह उनके लिए और किन किन तरह के कामों को अंजाम देता आ रहा ऐसी कई महत्वपूर्ण जानकारी एटीएस जानना चाहेगी।