25 से ज्यादा शहरों में 2025 तक दौड़ेगी मेट्रो- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

0
196

दिल्ली में बिना ड्राइवर के मेट्रो की शुरुआत, पीएम मोदी ने दिखाई हरी झंडी

प्रखर नई दिल्‍ली/एजेंसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली मेट्रो की मजेंटा लाइन पर देश की पहली बिना ड्राइवर के चलने वाली ट्रेन सेवा के साथ एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड सर्विस शुरू करने के दौरान केंद्र सरकार के इस दिशा में चल रहे प्रयासों की जानकारी दी। प्रधानमंत्री मोदी ने आंकड़ों के जरिए वर्ष 2014 के बाद से देश में तेजी से मेट्रो सेवाओं के विस्तार की जानकारी दी। उन्होंने देश की पहली मेट्रो सेवा शुरू करने का श्रेय पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, श्साल 2014 में देश में सिर्फ 248 किलोमीटर मेट्रो लाइन्स आपरेशनल थीं। आज ये करीब तीन गुनी यानी सात सौ किलोमीटर से ज्यादा है। वर्ष 2025 तक हम इसका विस्तार 1700 किलोमीटर तक करने का प्रयास कर रहे हैं। मोदी ने बताया कि वर्ष 2014 में सिर्फ 5 शहरों में मेट्रो रेल थी। आज 18 शहरों में मेट्रो रेल की सेवा है। वर्ष 2025 तक 25 से ज्यादा शहरों तक मेट्रो सेवाओं का विस्तार करने की तैयारी है। उन्‍होंने कहा, श्ये सिर्फ आंकड़े नहीं हैं ये करोड़ों भारतीयों के जीवन में आ रही ईज ऑफ लिविंग के प्रमाण हैं। ये सिर्फ ईंट पत्थर, कंक्रीट और लोहे से बने इंफ्रास्ट्रक्च र नहीं हैं बल्कि देश के नागरिकों, देश के मिडिल क्लास की आकांक्षा पूरा होने के साक्ष्य हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, श्हमारी सरकार ने मेट्रो पॉलिसी बनाई और उसे चैतरफा रणनीति के साथ लागू भी किया। हमने जोर दिया स्थानीय मांग के हिसाब से काम करने पर, हमने जोर दिया स्थानीय मानकों को बढ़ावा देने पर, हमने जोर दिया मेक इन इंडिया विस्तार पर, हमने जोर दिया आधुनिक टेक्नोलॉजी के उपयोग पर।श् उन्‍होंने कहा, श्कुछ दशक पहले जब शहरीकरण का असर और इसका भविष्य, दोनों ही बिल्कुल साफ था तो उस समय एक अलग ही रवैया देश ने देखा। भविष्य की जरुरतों को लेकर उतना ध्यान नहीं था, आधे-अधूरे मन से काम होता था, भ्रम की स्थिति बनी रहती थी। आधुनिकीकरण के लिए एक ही तरह के मानक और सुविधाएं उपलब्ध कराना बहुत जरूरी है। प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय स्तर पर कॉमन मोबिलिटी कार्ड को इस दिशा में एक बड़ा कदम बताते हुए कहा, आप जहां कहीं से भी यात्रा करें, आप जिस भी पब्लिक ट्रांसपोर्ट से यात्रा करें, ये एक कार्ड आपको इंटीग्रेटेड एक्सेस देगा। सरकार ने एक आधिकारिक बयान में कहा कि बिना ड्राइवर के चलने वाली मेट्रो ट्रेन एक प्रमुख तकनीकी उपलब्धि है। यह दिल्ली और राज्य के अन्य शहरों के निवासियों के लिए आराम यात्रा और गतिशीलता बढ़ाने का नया युग है। बतादे कि 37-किलोमीटर मजेंटा लाइन (जनकपुरी वेस्ट-बॉटनिकल गार्डन) पर बिना ड्राइवर के चलने वाली मेट्रो ट्रेन सेवाओं की शुरुआत के बाद दिल्ली मेट्रो का एक और प्रमुख गलियारा, 57 किलोमीटर पिंक लाइन (मजलिस पार्क-शिव विहार) के 2021 के मध्य तक शुरु होने की उम्मीद है। दिल्ली मेट्रो ने रविवार को एक बयान में कहा, इन नई पीढ़ी की ट्रेनों के शुरू होने के साथ देश दुनिया के मेट्रो नेटवर्क के सात प्रतिशत की कुलीन लीग में प्रवेश करेगा। चालक रहित ट्रेनें पूरी तरह से स्वचालित होंगी, जिन्हें न्यूनतम मानवीय हस्तक्षेप की आवश्यकता होगी और मानव त्रुटियों की संभावनाओं को समाप्त कर देगी। दिल्ली मेट्रो यात्री सुविधा के लिए प्रौद्योगिकी-संचालित समाधान पेश करने में अग्रणी रही है और यह उसी दिशा में एक और कदम है।