सट्टेबाजों के बड़े गैंग का खुलासा, दो करोड़ से ज्यादा कैश बरामद

0
198

 

प्रखर एजेंसी। कानपुर पुलिस को बुधवार सट्टेबाजों के खिलाफ बड़ी कामयाबी मिली। नौबस्ता, रायपुरवा और गोविंदनगर पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए शहर के विभिन्न स्थानों पर छापेमारी की जिसमें चार सट्टेबाज पकड़े गए। इनके पास से पुलिस ने दो करोड़ सात लाख रुपये की मोटी रकम बरामद की है। पुलिस लाइन में आयोजित पत्रकार वार्ता में एसपी पश्चिम डॉक्टर अनिल कुमार व एसपी साउथ दीपक कुमार ने बताया कि नौबस्ता पुलिस ने सट्टेबाजी में लगे ओ ब्लॉक यशोदा नगर से अनिल गुप्ता उर्फ अनीश पुत्र राम प्रकाश गुप्ता और विनय मिश्रा पुत्र राजाराम मिश्रा को गिरफ्तार किया। गोविंद नगर पुलिस ने नटराज के पीछे से सौरभ अरोड़ा और रायपुरवा पुलिस ने विनय कुमार गुप्ता और विक्की को अफीम कोठी के पास से गिरफ्तार किया। सबसे ज्यादा रकम विनय कुमार गुप्ता के पास मिली। इसके पास से पुलिस ने एक करोड़ 90 लाख 50 हजार रुपये की नकदी बरामद की है। नौबस्ता पुलिस ने 6 लाख 52 हजार और गोविंद नगर पुलिस ने 10 लाख छह हजार की बरामदगी की। एसपी पश्चिम ने बताया कि शहर में सट्टेबाजी का तंत्र दिल्ली के किसी कपूर नामक व्यक्ति द्वारा संचालित किया जा रहा है। कपूर ने आगरा के विक्की और अंकुश को अपना को-एजेंट बनाया और इन दोनों ने कानपुर में सट्टेबाजी के लिए आईडी भेजें। यह गिरोह क्रिकेट के अलावा अन्य मामलों में भी सट्टेबाजी का पैसा लगाता है। इनके पास से मिले मोबाइल और डायरी के सबूतों से पता चलता है कि एक दिन में इन्होंने लाखों रुपये का ट्रांजैक्शन किया। एसपी साउथ के अनुसार मामले में जांच की जा रही है। आगरा के दोनों आरोपी फरार हैं। इनकी गिरफ्तारी की कोशिश की जा रही है। आगरा और दिल्ली पुलिस को कानपुर पुलिस रिपोर्ट भेज रही है। इसके आधार पर इनकी गिरफ्तारी की कोशिश की जाएगी।