भारत में 25 हुई कोरोना के नए स्‍ट्रेन की तादाद

0
245

 

प्रखर नई दिल्‍ली/एजेंसी। देश में धीरे-धीरे कोरोना का नया स्‍ट्रेन पैर पसारने लगा है। केंद्र सरकार ने गुरुवार को बताया कि ै।त्ै-ब्वट-2 के नए यूके वैरिएंट के पांच नए मिलने के साथ ही देश इसके मरीजों की तादा 25 तक पहुंच गई है। पांच नए मामलों में से एक का पता सीएसआईआर इंस्टीट्यूट ऑफ जीनोमिक्स एंड इंटीग्रेटिव बायोलॉजी दिल्ली में और चार ने नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी पुणे में लगाया है।स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ष्सभी 25 व्यक्तिों को स्वास्थ्य सुविधाओं में अलगाव में रखा गया हैं। यूके वैरिएंट कोरोना वायरस के 20 अन्य मामलों में से आठ को दिल्ली में राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र में, सात को बैंगलोर में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ एंड न्यूरो-साइंसेज, दो को हैदराबाद में सेल्युलर और आणविक जीवविज्ञान में और एक को क्रमशरू कोलकाता के पास नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोमेडिकल जीनोमिक्स, पुणे में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी और सीएसआईआर इंस्टीट्यूट ऑफ जीनोमिक्स एंड इंटीग्रेटिव बायोलॉजी में पाया गया है। केंद्र ने बुधवार को घोषणा की थी कि यूके के छह रिटर्न नए स्‍ट्रेन जीनोम के साथ पॉजिटिव पाए गए थे और इन सभी को नामित स्वास्थ्य देखभाल सुविधाओं में क्‍वारंटीन कर दिया गया है। हाल ही में, यूके सरकार ने घोषणा की थी कि उनकी आबादी में पाए जाने वाले नया स्‍ट्रेन 70 प्रतिशत तक अधिक तेजी से फैलता हैं। नए यूके संस्करण की उपस्थिति अब तक नीदरलैंड, ऑस्ट्रेलिया, इटली, स्वीडन, डेनमार्क, जर्मनी, कनाडा, फ्रांस, स्पेन, स्विट्जरलैंड, जापान, लेबनान और सिंगापुर में रिपोर्ट की गई है। केंद्र सरकार ने नए स्‍ट्रेन को देखते हुए 23 दिसंबर की आधी रात से 31 दिसंबर तक ब्रिटेन से आने वाली सभी उड़ानों को अस्थायी निलंबन कर दिया था। बाद में इसे बढ़ाकर 7 जनवरी तक कर दिया गया था। 25 नवंबर से 23 दिसंबर की मध्यरात्रि तक लगभग 33,000 यात्री ब्रिटेन से भारत पहुंचे थे। सरकार इन सभी यात्रियों पर नजर रख रही है।