एक लाख का इनामी शूटर गिरधारी विश्वकर्मा 9 एमएम पिस्टल के साथ गिरफ्तार

0
1648

 

प्रखर डेस्क/ वाराणसी।लखनऊ के विभूतिखंड में हिस्ट्रीशीटर अजीत सिंह को गोलियों से छलनी करने वाले अपराधी गिरधारी विश्वकर्मा उर्फ डॉक्टर उर्फ कन्हैया को दिल्ली पुलिस ने नाइन एमएम के एक पिस्टल के साथ मंगलवार को भोर में एक अजीब तरीके से गिरफ्तार कर लिया। बतादे कि गिरधारी पर एक लाख रुपये का इनाम वाराणसी पुलिस ने हत्या के एक मामले में घोषित कर रखा है। बतादे कि लखनऊ पुलिस और एसटीएफ उसे गिरफ्तार करने के लिये रात-दिन एक किये हुए थी लेकिन वह सबको चकमा देकर दिल्ली पहुंच गया था। बताया जा रहा है कि उसकी गिरफ्तारी से कुछ घंटे पहले लखनऊ की कोर्ट में समर्पण की अर्जी भी डाली गई थी, जिस पर 13 जनवरी की तारीख दी गई थी। बताया जा रहा है कि कमिश्नरेट पुलिस की एक टीम उसे रिमाण्ड पर लेने के लिये मंगलवार की सुबह दिल्ली के लिये रवाना हो गई। बताते चले कि छह जनवरी को कठौता चौराहे के पास गिरधारी ने अपने साथियों के साथ अजीत सिंह की हत्या कर दी थी। इस काण्ड में घायल हुए अजीत के साथी मोहर सिंह ने पुलिस को बताया था कि शूटरों में गिरधारी था और उसने ही सबसे ज्यादा गोलियां चलायी थी। मोहर ने एफआईआर करायी थी कि अजीत की हत्या आजमगढ़ जेल में बंद कुंटू सिंह और अखण्ड सिंह ने करवायी है। इस मामले में अब तक मददगार के रूप में प्रिंस और रेहान की गिरफ्तारी हो चुकी थी। प्रिंस की गिरफ्तारी के बाद ही पूर्वांचल के पूर्व बाहुबली सांसद का नाम इस हत्याकाण्ड में आने लगा था। इन बाहुबली के करीबी प्रदीप कबूतरा के भी हत्या की साजिश में शामिल होने की बात कही जा रही है।

गिरधारी से पूछताछ में खुलेंगे कई राज- पुलिस

पुलिस के लिये चुनौती बने इस हत्याकाण्ड से जुड़े कई सवाल अनसुलझे हैं। इनके लिये ही पुलिस गिरधारी को रिमाण्ड पर लेकर पूछताछ करेगी। बताया जाता है कि पूर्व सांसद के इशारे पर ही दिल्ली की स्पेशल क्राइम सेल के हत्थे गिरधारी चढ़ा है। उसकी गिरफ्तारी होते ही लखनऊ तक हड़कम्प मच गया। इस मामले में पुलिस को अभी अंकुर और बंधन की भी तलाश है।