ट्रैक्टर के धक्के से बाइक सवार की मौत, पांच घण्टे बाद खुला जाम

प्रखर चौबेपुर वाराणासी। स्थानीय थानांतर्गत सिरिस्ति गांव के पास चौबेपुर भगतुआ मार्ग पर गुरुवार को दोपहर ढाई बजे एक ट्रैक्टर से बाइक सवार को धक्का मारकर भाग निकला।घायल चुन्नू गुप्ता 42 वर्ष को नरपतपुर सामुदायिक केंद्र ले जाया गया।वहा डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया।अस्पताल से लौटे ग्रामीणों व परिजनों ने घटना से 500 मीटर दूर घर के सामने चौकी पर शव रख कर चौबेपुर भगतुआ मार्ग लगभग तीन बजे जाम कर दिया।जिससे वाहनों की लंबी कतारें लग गयी।सीओ पिंडरा अभिषेक पांडेय व थानाध्यक्ष राजेश त्रिपाठी के काफी प्रयास के बाद लगभग पाच घण्टे बाद 6 बजकर 45 मिनट पर चक्का जाम समाप्त हुआ।
गोपालापुर गांव निवासी चुन्नू गुप्ता मुंबई में रहकर ठेला लगाता था।उसका परिवार वही रहता है।उसकी बुआ की मृत्यु होने पर रविवार को तेरही संस्कार में भाग लेने आया हुआ था। गुरुवार को दोपहर में नरपतपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कोरोना का टीका लगवाकर सिरिस्ति अपने भाई के दुकान पर रुका था।कुछ देर बाद बाइक से घर के लिए निकल तभी भगतुआ से चौबेपुर की ओर जा रहा एक ट्रैक्टर ट्राली से टकरा गया।ट्रैक्टर का दोनों पहिया उसके ऊपर चढ़ते हुए आगे निकल गया।आसपास के लोगो ने ट्रैक्टर को पीछे कराकर घायल चुन्नू गुप्ता 42 वर्ष को बाहर निकाल कर अस्पताल ले गए। रास्ते मे ही चुन्नू गुप्ता की मौत हो गयी।यहा पहुचे ही डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया।वहा से लौटकर परिजन सिरिस्ति घटना स्थल से 500 मीटर दूर घर के सामने गोपालापुर में चौबेपुर भगतुआ मार्ग पर चौकी पर शव रखकर सड़क जाम कर दिया।घटना की सूचना मिलते ही चौबेपुर पुलिस मौके पर पहुच कर समझाना चाहा परन्तु ग्रामीण चक्का जाम समाप्त करने को तैयार नही हुए। ग्रामीणों परिजनों का कहना था कि ट्रैक्टर व उसके मालिक को यहा लाये बिना चक्का जाम समाप्त नही करेंगे।बाद में किसी तरह सीओ पिंडरा अभिषेक पांडेय थानाध्यक्ष राजेश त्रिपाठी ने समझाकर लगभग पाच घण्टे बाद चक्का जाम समाप्त करने के बाद शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए पंचनामा कराया।मृतक की पत्नी व बच्चे इस समय मुंबई में है।उसको एक पुत्र कल्लू व तीन पुत्रियां है।जिनमे एक पुत्री गूंगी है।मृतक पाच भाइयो में दूसरा नम्बर का है।मृतक के पिता सारदा गुप्ता घटना के बाद बोखलाए हुए थे।