डाक विभाग के पोस्टमैंन ने ग्राहकों को लगाया 5 करोड़ का चूना, कार्यवाही का आदेश

प्रखर एजेंसी। सहारनपुर जनपद के बेहट तहसील इलाके में स्थित डाकघर के एक कर्मचारी पर 5 करोड़ रुपए के घोटाले का आरोप लगा है. डाकघर के अधिकारियों के चक्कर काटने के बाद अब ग्राहक पुलिस की शरण मे पहुंचे और घोटाले की जांच किए जाने की मांग करते हुए तहरीर दी. आरोप ये भी है कि जब ग्राहक शिकायत लेकर कोतवाली बेहट पहुंचे तो पुलिस ने उल्टा ग्राहकों को ही बेवकूफ बता डाला. दरअसल, पूरा मामला जनपद सहारनपुर की कोतवाली व तहसील बेहट इलाके के गांव खुरर्मपुर स्थित डाकघर का है. शुक्रवार को कोतवाली बेहट पहुंचे डाकघर के ग्राहकों ने कोतवाली बेहट पुलिस को तहरीर देते हुए बताया कि गांव खुरर्मपुर में स्थित डाकघर में करीब दो हज़ार खाताधारक है. जिनमे क्षेत्र के किसान और मजदूर शामिल है. बताया गया कि डाकघर में राजेश धीमान नाम का पोस्टमैन है. आरोप है कि पोस्टमैन काफी संख्या में ग्राहकों की पासबुक अपने साथ ले गया और कई दिनों से गायब है. जब ग्राहक अपने पैसे निकलवाने के लिए मुजफ्फराबाद स्थित दूसरी शाखा में पहुंचे तो पूरे मामले का खुलासा हुआ.  पता चला कि जिन खातों से लोग पैसे निकलवाने आ रहे है उन खातों में पैसे जमा ही नहीं हुए. जिसके बाद ग्राहकों में यह खबर आग की तरह फैल गई. पुलिस पर भी लगा ये आरोप
कोतवाली पहुंचे ग्राहकों का कहना है कि वे डाक विभाग के अफसरों से गुहार लगा लगा कर थक चुके है. पुलिस को तहरीर देकर ग्राहकों ने बताया कि डाकखाने में करीब 5 करोड़ रुपये का घोटाला हुआ है. मामले की जांच कर कार्यवाई की जाए और ग्राहकों को उनकी रकम वापस दिलाई जाए. दूसरी ओर शिकायत लेकर कोतवाली आये ग्राहकों ने पुलिस पर भी गम्भीर आरोप लगाए. ग्राहकों का कहना था कि पुलिस मामले की जांच करने के बजाय उल्टा उन्हें ही बेवकूफ बता रही है. वहीं शनिवार को सहारनपुर पहुंचे जनपद के नोडल अधिकारी व अपर मुख्य सचिव डॉ रजनीश दुबे ने सर्किट हाउस में समीक्षा बैठक के दौरान इस ठगी को लेकर जनपद के अधिकारियों से बात की. साथ ही आरोपी के खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया. जिसके बाद सहारनपुर के डीएम अखिलेश सिंह ने मीडिया को बताया कि इस मामले में आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है. साथ ही यूपी के जनरल पोस्टमास्टर को भी इसकी रिपोर्ट भेजी जा रही है।