अपराधी व भू- माफिया के खिलाफ एक और मामला दर्ज

प्रखर शाहगंज, जौनपुर। पिछले कई वर्षों से कई गंभीर मुकदमों में आरोपित भू माफिया और अवैध गतिविधि में लिप्त माफिया सिकन्दर आलम के खिलाफ शाहगंज कोतवाली में न्यायालय के आदेश पर एक और मुकदमा दर्ज कराया गया है। हेराफेरी कर दूसरे की जमीन पर कब्जा कर कूटरचित साजिश करने वाला भू माफिया सिकंदर आलम पुत्र अब्दुल जब्बार निवासी पारा कमाल सहित 13 लोगों के खिलाफ फर्जी रजिस्ट्री साबित होने के बाद न्यायालय द्वारा धारा 419,420, 467, 471, 468, 120 बी गंभीर धाराओं के तहत थाना शाहगंज कोतवाली में मुकदमा दर्ज हुआ।
नगर निवासी सुजीत जायसवाल ने कोर्ट प्रार्थना पत्र देते हुए आरोप लगाया था कि आरोपी सिकंदर आलम द्वारा गलत लोगों से फर्जी बैनामा कराया गया जो उसके मालिक थे ही नहीं और उस फर्जी बैनामा के आधार पर खेतासराय में जमीन मालिक सुजीत जायसवाल के जमीन को अपना बता कर कब्जा करने का प्रयास कर रहा था जिसकी सूचना मिलने पर सुजीत जायसवाल ने एसपी जौनपुर को शिकायत किया। और उसके बाद न्यायालय में अपना वाद प्रस्तुत किया जिसमें न्यायालय ने सभी साक्ष्य का अवलोकन किया और सिकंदर आलम द्वारा कराए गए फर्जी बैनामा को संदिग्ध मानते हुए एफ आई आर दर्ज करने का आदेश दिया। सुजीत जायसवाल द्वारा सिकंदर आलम के खिलाफ माननीय मुख्यमंत्री के भी समक्ष शिकायत किया गया है सारे मामले की जानकारी माननीय मुख्यमंत्री कार्यालय के संज्ञान में है सिकंदर आलम के खिलाफ जल्द ही गिरफ्तारी का कार्रवाई होने की आशंका से आरोपी फरार है। सूत्रों की माने तो ये वही भू-माफिया है, जो थाना खेतासराय का हिस्ट्रीशीटर है. गैंगस्टर आरोपी है. जिला बदर भी रह चुका है. एक दर्जन से अधिक गंभीर मुकदमों में आरोपी है।इसका भाई नैय्यर आलम कूटरचित तरीके से सरकारी संपत्ति को हथियाने एवं कागजों में हेरफेर करने वाला भूमाफिया नैय्यर आलम के खिलाफ प्रशासन ने कार्रवाई की थी जो इस समय आठ महीने से जेल में बंद है।