वन प्लेस ग्रुप के एमडी रणविजय सिंह पर मुकदमा दर्ज करने का आदेश

0
41

जून में ही कैंट थाने में दर्ज हुआ था केस लेकिन कोई कार्यवाही नहीं होने से नाराज अपर पुलिस आयुक्त अपराध ने पुनः दिया सख्त आदेश

प्रखर वाराणसी। रियल स्टेट का कार्य करने वाली कंपनी वन प्लेस ग्रुप का एक और धोखाधड़ी का मामला प्रकाश में आया है। बता दें कि धोखाधड़ी के मामले में जून में ही कैंट थाने में एफ आई आर दर्ज कराई गई थी। लेकिन उस एफआईआर में पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की। जिससे नाराज होकर अपर पुलिस आयुक्त अपराध ने पुनः कैंट स्पेक्टर को मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार पीड़ित प्रभा सिंह के आवेदन पर अपर पुलिस आयुक्त सुभाष चंद दुबे ने वन प्लेस ग्रुप के एमडी रणविजय सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है। पीड़िता प्रभा सिंह के अनुसार 2015 में वन प्लेस के नटीनियादाई प्रोजेक्ट वन प्लेस एवेन्यू में 90 लाख रुपए में फ्लैट बुक कराया था। इसमें 20 लाख का भुगतान उन्होंने कर दिया और इसके बाद एमडी रणविजय सिंह ने बुकिंग को निरस्त कर दिया। रुपए वापस मांगने पर बार- बार टालते रहे। वही फरवरी 2016 में पुनः यह वादा किया कि आपको दूसरा फ्लैट दिया जाएगा और फिर 20 लाख रुपए लेकर रजिस्टर्ड एग्रीमेंट भी किया। अब कुल मिलाकर 40 लाख लेने के बाद भी पीड़िता को फ्लैट नही मिला। और तो और 2018 में फिर से उनकी बुकिंग रद्द करके उन्हें पत्र भेज दिया। जब पीड़िता को यह पता चला की बुकिंग किए हुए पहले के बाद दूसरे फ्लैट को रणविजय सिंह ने किसी और को बेच दिया। तो उन्होंने जून 2021 में रणविजय सिंह के खिलाफ कैंट थाने में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया। लेकिन अब तक उसमें कोई कार्रवाई नहीं हुई। कैंट थाने द्वारा कार्रवाई नहीं करने पर नाराज पीड़िता ने अपर पुलिस आयुक्त अपराध को अपना दुखड़ा सुनाया। तो उन्होंने नाराजगी जताते हुए कैंट स्पेक्टर को पुनः मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करने का आदेश दिया है।