ग़ाज़ीपुर- घर के इकलौते चिराग की पानी भरे गड्ढे में डूबने से मौत

0
53

प्रखर ब्यूरो गाजीपुर। बरेसर थाना क्षेत्र के अमहट बड़की बारी निवासी एक परिवार की मां ने अपने इकलौते चिराग के लिए जीऊतिया का व्रत रखा था, उस चिराग की पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के लिए खोदे गए पानी भरे गड्ढे में डूबने से मौत हो गई। इस दुर्घटना से घर में कोहराम मच गया। मालूम हो कि बरेसर थाना क्षेत्र के अमहट बड़की बारी गांव निवासी श्यामनारायन यादव आलमारी की दुकान चलाते है। बुधवार की शाम करीब पांच बजे उनका पुत्र प्रियांशु यादव (11) कोचिंग पढ़कर दुकान पर पहुंचा। पिता श्यामनारायन ने उसे घर जाने के लिए कहा। इस पर वह लौट आया। मां शीला ने इकलौते चिराग प्रियांशु के लिए जीऊतिया का निर्जला व्रत रखा था और पूजा-पाठ में व्यस्त थी। प्रियांशु घर पहुंचने के बाद अपना बैग रखा और अपनी साइकिल लेकर निकल गया। जब काफी देर बाद भी वह घर नहीं लौटा तो मां ने मोबाइल से इसकी सूचना उसके पिता को दी। इस पर पिता श्यामनारायन दुकान बन्द कर घर पहुंचा और ग्रामीणों के साथ इधर-उधर प्रियांशु की खोजबीन करने लगा। लेकिन गांव में कही पता नहीं चला। इसके बाद पिता देर शाम करीब सात बजे पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के लिए खोदे गए गड्ढा के पास पहुंचा तो देखा वहां पुत्र की साइकिल खड़ी थी। यह देख वह घबरा गया। आनन-फानन में पानी भरे गड्ढे में उतरकर प्रियांशु की तलाश करने लगा। इसी दौरान उसका पैर बेटे से शरीर से टकराया। ग्रामीणों की मदद से उसे बाहर निकालकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बाराचवर लाया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस घटना से घर में कोहराम मच गया। इकलौते चिराग की मौत से मां शीला सहित पिता दहाड़े मारकर रोने लगे। रोते-रोते दोनों बार-बार बेहोश हो जा रहे थे। छह वर्षीय छोटी बहन साक्षी भी बिलख रही थी। सांत्वना देने वालों की आंखें भी भर आ रही थी। लोग इस दुर्घटना के लिए ऊपर वाले की दुहाई देते हुए कहते रहे है कि वाह रे तेरी लीला, जीस मां ने अपने लाल के लम्बी उम्र के लिए व्रत रखा, उसी से उसका लाल छीन लिया। मृतक प्रियांशु के नाक से खून आ रहा था। इससे हत्या की आशंका व्यक्त करते हुए पिता ने अज्ञात के खिलाफ तहरीर दी। इस संबंध में एसओ राजेश सिंह ने बताया कि घटना स्थल का मौका मुआयना किया गया है। शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। रिपोर्ट आने के बाद मौत का कारण स्पष्ट हो जाएगा। इसके बाद आगे की कार्यवायी प्रारंभ की जाएगी।