करोड़ों की जमीन सर्किल रेट छुपाकर मात्र 5 लाख में लिए जाने के मामले में मुख्तार अंसारी पर फिर बड़ी कार्रवाई

प्रखर आजमगढ़। जिले के पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने माफिया मुख्तार अंसारी पर एक और बड़ी कार्रवाई की है. माफिया मुख़्तार की अवैध कमाई से लखनऊ में अर्जित एक करोड़ 44 लाख 84 हजार रुपये की ज़मीन को कुर्क करने के लिए जिलाधिकारी आजमगढ़ को पत्र लिखा है. यह कार्रवाई आजमगढ़ जिले में दर्ज गैंगस्टर के तहत माफिया मुख्तार की संपत्तियों को चिह्नित कर किया गया है. बहुत जल्द आजमगढ़ पुलिस लखनऊ जाकर माफिया के इस ज़मीन को जप्त करेगी. करोड़ों की इस संपत्ति को माफिया मुख्तार ने सर्किल रेट छुपाकर एक व्यापारी से मात्र पांच लाख में बैनामा करा लिया था। मुख्तार अंसारी के खिलाफ आजमगढ़ जिले के तरवां थाने में दर्ज गैंगस्टर के मुकदमे में विवेचक स्क्वाट टीम प्रभारी प्रशांत श्रीवास्तव हैं. दरअसल उत्तर प्रदेश गिरोह बंद एवं समाज विरोधी क्रिया कलाप निवारण अधिनियम 1986 के तहत मुख्तार की चल-अचल संपत्ति को चिह्नित करने की कवायद चल रही थी. इसी के तहत लखनऊ में 21 विधानसभा मार्ग हुसैनगंज में मुख्तार की पत्नी के नाम एक संपत्ति चिह्नित की गई थी. टीम प्रभारी प्रशांत श्रीवास्तव के मुताबिक संपत्ति की कीमत एक करोड़ 44 लाख 84 हजार रुपये है. मुख्तार ने अपने खौफ के बल पर सर्किल रेट छुपाते हुए एक व्यापारी से मात्र पांच लाख रुपये में अपनी पत्नी के नाम यह संपत्ति 2007 में रजिस्ट्री करा ली थी. चिह्नित करने के बाद संपत्ति को कुर्क करने की कवायद में आजमगढ़ पुलिस जुट गई है. इसके लिए एसपी के माध्यम से जिलाधिकारी आजमगढ़ को पत्र भी लिखा गया है। पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने बताया कि मुख्तार के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है, लखनऊ में चिह्नित प्रॉपर्टी को जब्त करने के लिए डीएम आजमगढ़ को पत्र लिखा गया है. जल्द ही संपत्ति कुर्क की जाएगी. गौररतलब के किए पिछले कुछ समय से मुख्तार के खिलाफ आजमगढ़ पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है।