ग़ाज़ीपुर- झोपड़ी में संविदा कर्मी का शव मिलने से फैली सनसनी

प्रखर ब्यूरो गाजीपुर। कासिमाबाद कोतवाली क्षेत्र के खजूरगांव के मठिया में स्थित एक झोपड़ी में शनिवार की सुबह एक संविदा कर्मी का शव मिलने सनसनी फैल गई। मृतक के गले पर चोट का निशान था और आंख भी क्षतिग्रस्त था। मौके पर खून फैला हुआ था। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंच गई। ग्रामीणों के साथ परिवार के लोगों ने हत्या का आरोप लगाते हुए मामले का पर्दाफाश करने की मांग को लेकर शव को कब्जे में लेने से रोक दिया। मौके पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक के आश्वासन पर ग्रामीण शांत हुए और पुलिस ने शव को कब्जे लिया। मृतक के पिता की तहरीर पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। एक संदिग्ध महिला को हिरासत में लेकर पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है। घटना के पीछे आशनाई की बात सामने आ रही है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार कासिमाबाद क्षेत्र के मड़हीं गांव निवासी राजेश चौहान (40) पृथ्वीपुर पावर हाउस पर संविदा पर लाइनमैन का काम करता था। वह शुक्रवार की रात करीब 8 बजे परिवार के साथ खाना खाकर पृथ्वीपुर स्थित पावर हाउस के लिए निकला था। शनिवार की सुबह करीब साढ़े पांच बजे खजूरगांव मठिया के एक झोपड़ी में एक महिला की नजर खून से लथपथ शव पर पड़ी तो वह शोर मचाने लगी। शोर सुनकर दर्जनों ग्रामीण मौके पर पहुंच गए। लोगों ने राजेश की पहचान करते हुए घटना की जानकारी उसके परिजनों को दी। कुछ ही देर में परिवार के लोग पहुंच गए। शव पर नजर पड़ते ही चीख-पुकार करने लगे। मृतक के गले पर चोट के निशान के साथ ही आंख को किसी नूकिले वस्तु से फोड़ा गया था। घटनास्थल पर खून पर पड़ा था। मृतक की साइकिल, चप्पल और प्लास भी वही पड़ा था। परिवार के लोग हत्या के आरोप लगाते हुए हो-हल्ला करने लगे। सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने जैसे ही शव को कब्जे में लेना चाहा तो आक्रोशित ग्रामीणों ने घटना का पर्दाफाश करने की बात को लेकर शव को कब्जे में लेने से रोक दिया। सूचना मिलने पर पुलिस अधीक्षक रामबदन सिंह मौके पर पहुंचे। उन्होंने ग्रामीणों से बातचीत करते हुए मामला का शीघ्र पर्दाफाश करने का आश्वासन दिया। इस पर एक घंटा बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। मौके पर पहुंची फोरेंसिक टीम ने जांच-पड़ताल की। मृतक अपने तीन भाइयों में सबसे बड़ा था। दूसरा भाई रामप्रवेश एवं तीसरा रिंकू मजदूरी का कार्य करते हैं। मृतक का एक पुत्र राहुल पढ़ाई करता है। मृतक की पत्नी लालमति देवी व माता समरजिया देवी के साथ ही पिता दूधनाथ चौहान सहित अन्य परिजनों का रो-रोकर हाल बेहाल है। चर्चा है कि मृतक राजेश चौहान का सोना खरवार के घर आना-जाना लंबे समय से रहा है। सोना खरवार बाहर में प्राइवेट नौकरी करता है। घर पर उसकी एकमात्र पत्नी अपने बच्चों के साथ रहती है। राजेश का उस महिला से नाजायज संबंध रहा हैं। इस संबंध में पुलिस अधीक्षक रामबदन सिंह ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। रिपोर्ट आने के बाद मौत का कारण स्पष्ट हो जाएगा। मृतक के पिता की तहरीर पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर छानबीन शुरु कर दी गई है। एक संदिग्ध महिला को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। जल्द ही मामले का पर्दाफाश कर दिया जाएगा।