यूपी में बेतहाशा बिजली कटौती से मचे हाहाकार के बीच अच्छी खबर!

बिजली कटौती से प्रदेश में जल्द मिल सकती है राहत

प्रखर सोनभद्र/ लखनऊ। प्रदेश में इन दिनों बिजली कटौती से हाहाकार मचा हुआ है। बतादें कि योगी सरकार दूसरी बार सत्ता में आने के बाद बिजली कटौती लगातार ग्रामीण इलाकों में जारी है, जिससे लोगों में हाहाकार मचा हुआ है। लोग अपनी भड़ास सोशल मीडिया पर निकालते हुए, बिजली मंत्री को दोष दे रहे हैं। वहीं विपक्ष भी बिजली को लेकर हमलावर है। ग्रामीण इलाकों की तो बात दूर की है शहरी इलाकों में भी घंटों बिजली कटौती से जनता बेहाल है। यूपी सरकार का कहना है कि जल्द ही इस कटौती से जनता को निजात मिल जाएगी। सरकार प्राइवेट सेक्टर से महंगी बिजली खरीदकर जनता को मुहैया करा रही है। इसी बीच एक अच्छी खबर यह आई है कि सोनभद्र के ओबरा में 1320 मेगावाट की बिजली परियोजना का कोरियाई कंपनी दुसान की ओर से निर्माण किया जा रहा है इस 1320 मेगावाट की परियोजना 2 को दो भागों में बांटा गया है। इसकी पहली इकाई 660 मेगा वाट मंगलवार को सफलतापूर्वक ट्रायल में सही साबित हो चुका है। अब इस परियोजना को योगी सरकार बड़ी उपलब्धि के तौर पर देख रही है। बता दें कि ओबरा तापी परियोजना के विस्तारीकरण में निर्माणाधीन 1320 मिलावट की ओबरा सी परियोजना के 660 मेगावाट की पहली इकाई का मंगलवार शाम टेस्ट लाइव अप किया गया। इस दौरान सफलतापूर्वक वायरल की सभी तकनीकी पहलुओं को देखते हुए बारीकी से जांच की गई। इसकी जानकारी देते हुए महाप्रबंधक इंजीनियर पीसी अग्रवाल ने बताया कि निर्माण कार्य प्रगति पर है, इस तहत हर तकनीकी पहलुओं की जांच की जा रही है। इसी क्रम में मंगलवार को वायरल टेस्ट लाइटअप किया गया। बता दें कि प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी ओबरा सी परियोजना उत्तर प्रदेश की बिजली के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने में मील का पत्थर मानी जा रही है। कोविड-19 के कारण यह परियोजना देर से शुरू हुई। लेकिन सब कुछ ठीक रहा तो अक्टूबर 2022 तक पहली इकाई से बिजली का उत्पादन शुरू हो जाएगा। जिससे जनता को बड़ी राहत मिल सकती है।