बीजेपी की सत्यता पर सत्यपाल का आरोप, मुझे भी इशारा मिला था चुप रहेंगे तो उपराष्ट्रपति बनेंगे!

0
34


प्रखर डेस्क। मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने अपने बयान के जरिए ‘सियासी बम’ फोड़ा है. नागौर जिले के लाडनूं जाते समय झुंझुनू के बगड़ में एक होटल पर रुकने के दौरान राज्यपाल मलिक ने उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ को लेकर बयान दिया है. उन्होंने कहा कि वे डिजर्विंग कैंडिडेट थे, इसलिए उपराष्ट्रपति बना दिया, अच्छा किया. मुझे भी इस पद के लिए इशारे थे कि आप नहीं बोलेंगे तो आपको बना दें, लेकिन मैने मना कर दिया. राज्यपाल मलिक ने कहा कि मैं किसान वर्ग के लिए हमेशा बोलता रहूंगा. राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि वर्तमान हालातों को देखते हुए एमएसपी की मांग पूरी होती नजर नहीं आ रही है. किसानों को और बड़ा आंदोलन करना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि वे हमेशा किसानों की आवाज उठाते रहेंगे. राज्यपाल का कार्यकाल पूरा होने के बाद भी किसानों के साथ जुडे़ंगे, जहां भी किसानों की लड़ाई होगी वहां मैं पहुंच जाऊंगा। इस दौरान मलिक ने देश में ईडी की कार्रवाई को लेकर भी कहा कि कुछ ईडी के छापे भाजपा नेताओं पर भी डालने चाहिए, जिससे लोगों में यह संदेश जाए कि एक तरफा कार्रवाई नहीं हो रही है. उन्होंने राजपथ का नाम बदलकर कर्तव्य पथ रखने पर कहा कि राजपथ का नाम बेहतर था. बोलने और सुनने में अच्छा लगता था, लेकिन जो प्रधानमंत्री ने किया है वह ठीक-ठाक है. मेघालय के राज्यपाल ने एशिया के तीसरे नंबर के उद्योगपति अडानी को लेकर भी बड़ा बयान दिया. उन्होंने कहा कि उनकी संपत्ति कुछ ही समय में बढ़ी है, जबकि किसान वर्ग नीचे जा रहा है. राज्यपाल मलिक के पहुंचने पर भाजपा नेताओं ने उनका स्वागत किया. इस दौरान जिला कलेक्टर लक्ष्मण सिंह कुड़ी और एसपी मृदुल कच्छावा ने भी स्वागत किया. पुलिस के जवानों ने राज्यपाल को गार्ड ऑफ ऑनर दिया।