सूदखोरी से तंग आकर एक परिवार के 6 लोगो ने खाया जहर पांच की मौत


प्रखर ऐजेंसी। साहूकार से लिया गया कर्ज इतना बढ़ गया कि पूरे परिवार को आत्महत्या करनी पड़ी। यह दिल दहलाने वाली घटना बिहार के नवादा जिले की है। पुलिस मामले की छानबीन शुरू कर दी है। नवादा के नगर थाना क्षेत्र की इस घटना में परिवार के पांच लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 15 वर्षीय बच्ची का इलाज चल रहा है। एक साथ पांच लोगों की मौत से इलाके में मातम पसरा हुआ है।पुलिस ने घर से सुसाइड नोट बरामद किया है, जो कागज पर लिखकर मोबाइल में सेव किया गया था। बताया जा रहा है कि मुखिया केदारनाथ गुप्ता अपने परिवार के साथनवादा शहर के न्यू एरिया में किराए के मकान में रहते थे। यहीं रहकर रहकर व्यापार करते थे। केदार लाल गुप्ता ने साहूकार से ब्याज पर पैसे उधार लिए थे। ब्याज बढ़ने लगा तो साहूकार उन्हें पेरशान करने लगा। बार-बार कर्ज देने वाले ने परिवार को परेशान किया तो उनके पास आत्महत्या के अलावा कोई और विकल्प नहीं सूझा। 9 नवंबर की रात परिवार के सभी 6 सदस्यों ने एक साथ जहर खा लिया। इससे घटनास्थल पर ही दो सदस्यों की मौत हो गई थी, जबकि तीन सदस्य इलाज के दौरान दुनिया छोड़ गये। जहर खाने के बाद परिवार के मुखिया केदार लाल गुप्ता (50), उनकी पत्नी अनीता देवी (48), पुत्री शबनम कुमारी (20), पुत्र प्रिंस कुमार (16) तथा पुत्री गुड़िया कुमारी (17) की मौत हो गयी, जबकि एक पुत्री साक्षी कुमारी (15) की हालत गंभीर है। उसका इलाज चल रहा है। मौत होने से पहले केदार लाल के पुत्र प्रिंस ने बयान दिया था कि कर्ज देने वाले शख्स ने उनके परिवार को काफी परेशान कर रखा था।