विद्युत करेंट की चपेट में आने से जीजा- साले की मौत, मचा कोहराम


प्रखर बलिया। खानपुर में शनिवार सुबह शौच करने जा रहे जीजा-साले की खेत में टूट कर गिरे एचटी लाइन के तार की चपेट में आने से मौत हो गई। सूचना पर पहुंची सहतवार पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। उधर कई बार दुर्घटना होने के बाद भी तार न बदलने से गुस्साए ग्रामीणों ने बिजली विभाग के खिलाफ नारेबाजी करते हुए हल्दी-सहतवार मार्ग को खानपुर के पास जाम कर दिया। पुलिस ने किसी तरह समझा बुझाकर जाम खुलवाया। खानपुर निवासी संदीप तिवारी (18) पुत्र राजेश तिवारी अपने जीजा गाजीपुर जिले के नशीदीपुर निवासी अजय पांडेय (24) पुत्र रमेश पांडेय के साथ शनिवार सुबह शौच के लिए जा रहा था। अभी घर से लगभग 100 मीटर दूरी पर गया था कि खेत में टूट कर गिरे बिजली तार के चपेट में दोनों आ गए। इससे मौके पर ही दोनों की मौत हो गई। किसी ने घर आकर बताया जीजा-साले वहां खेत गिरे पड़े हैं। घरवालों ने जाकर देखा तो दोनों की मौत हो चुकी थी। दोनों की मौत से घर में कोहराम मच गया। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। घर और आसपास के लोग दोनों को उठाकर चिकित्सक के पास ले गए। वहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। बाद में गुस्साए लोगों ने खानपुर में हल्दी सहतवार मार्ग को जाम कर दिया। ग्रामीणों का आरोप था कि यहां पर अक्सर तार टूट कर गिरता रहता है। एक वर्ष के अन्दर पांच-छह लोगों की बिजली की चपेट में आने से मौत हो चुकी है। बिजली विभाग को कई बार इसका सूचना दी गई, लेकिन कभी इस पर ध्यान नहीं दिया गया। गुस्साए लोगों को तहसीरदार और सीओ ने किसी तरह समझा बुझाकर कर शांत कराया। इस दौरान चार घंटे सड़क जाम रहा। क्षेत्राधिकारी राजेश कुमार तिवारी ने बताया कि बिजली विभाग के उच्च अधिकारी से लिखित अवशासन मिला है। 10-15 दिन के अंदर मुआवजा उपलब्ध करा दिया जाएगा। दो दिन पहले अजय पाण्डेय के लड़के की छठी थी। इसमें वे नशीदीपुर से अपने ससुराल खानपुर आए हुए थे। शनिवार के सुबह अपने साले के साथ शौच के लिए जा रहे थे। टूटकर गिरे तार की चपेटे में दोनों आ गए। मौके पर ही दोनों की मौत हो गई।