पत्नी को स्पेशल ऑपरेशन बताकर गर्लफ्रेंड से मिलने जाता था सिपाही, सस्पेंड

प्रखर एजेन्सी/डेस्क। मंगलवार को आगरा में दो सिपाहियों को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी ने आशिक मिजाज होने के कारण निलंबित कर दिया. एक सिपाही अपनी पत्नी से स्पेशल ऑपरेशन की बात कहकर गर्लफ्रेंड से मिलने जाता था. वहीं दूसरा सिपाही वीरेंद्र खुद को अनमैरिड बताकर कुंवारी लड़कियों को फंसाता था. आगरा में दो सिपाहियों को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने आशिक मिजाज होने के कारण निलंबित कर दिया. इनमें से एक सिपाही मोहम्मद रियाज इंटेलिजेंस विंग में तैनात था. उसका एक युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था. वह अपनी पत्नी से स्पेशल ऑपरेशन की बात कहकर गर्लफ्रेंड से मिलने जाता था. वहीं दूसरा सिपाही वीरेंद्र खुद को अनमैरिड बताकर कुंवारी लड़कियों को फंसाता था.
सिपाही मोहम्मद रियाज आगरा पुलिस लाइन में इंटेलिजेंस विंग में तैनात है. उसकी पत्नी ने बताया कि मोहम्मद रियाज का एत्माद्दौला में रहने वाली एक युवती से साल 2016 से अफेयर चल रहा है. अक्सर वह रात को फोन पर उससे बात करते रहते थे. एक बार रात को वह किसी से फोन पर बात कर रहे थे. उनको लगा कि मैं सो रही हूं. मगर, मैं उनकी बात सुन रही थी. उस दिन पहली बार मुझे उनके अफेयर के बारे में पता चला. इसके बाद मैं रात भर रोती रही. पूरी रात मुझे नींद नहीं आई. अगले दिन सुबह उठते ही मैंने उनका विरोध करना शुरू कर दिया.पत्नी ने कहा कि उस दिन के बाद मेरे घर में अक्सर इस बात को लेकर झगड़े होने लगे. इसके बाद मुझे लगा कि सब कुछ सामान्य हो जाएगा, लेकिन ऐसा हुआ नहीं. 19 नवंबर को वह स्पेशल ऑपरेशन पर जाने की बात कहकर चले गए. उनकी इस हरकत पर मुझे शक हुआ. इस पर मैंने जासूसी शुरू कर दी. रियाज का पीछा करते-करते मैं उस तलाकशुदा महिला के घर तक जा पहुंची. मैंने दोनों को रंगेहाथ पकड़ लिया. फिर दोनों को पीटना शुरू कर दिया. इसके बाद काफी हंगामा हुआ. पुलिस आई और रियाज को अपने साथ लेकर चली गई. सिपाही की पत्नी ने बताया कि पुलिस ने महिला पर कोई कार्रवाई नहीं की है. मेरा घर तो उसने ही बर्बाद किया है. उसके खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए. मैं बिना उस पर कार्रवाई कराए चैन से नहीं बैठूंगी. वहीं, पुलिस ने मंगलवार देर शाम प्रेमिका आरती के खिलाफ मारपीट का मुकदमा दर्ज कर लिया.वहीं वीरेंद्र आगरा पुलिस लाइन में सिपाही के पद पर था. वह खुद को अनमैरिड बताकर लड़कियों को फंसाता था. वीरेंद्र के खिलाफ एक युवती ने शिकायत की थी. उस युवती ने आरोप लगाया था कि दो साल पहले एक केस की जांच के लिए वीरेंद्र उसके घर गया था. इस दौरान वह उससे बात करने लगा, जिसके बाद उसका लगातार घर आना-जाना हो गया. फिर वीरेंद्र ने जांच के नाम पर उसका शोषण करना शुरू कर दिया. एक बार सिपाही की पत्नी ने भी इस बात को लेकर मेरे घर आकर हंगामा किया. उसने मुझे कभी भी खुद को शादीशुदा होने की बात नहीं बताई थी. मामले में जांच के बाद SSP प्रभाकर चौधरी ने सिपाही वीरेंद्र को सस्पेंड कर दिया. वीरेंद्र पहले भी न्यू आगरा थाने से लाइन हाजिर किया गया. दोनों सिपाहियों के खिलाफ विभागीय जांच भी शुरू करा दी गई है.