पुलिस- प्रशासन के सामने झोपड़ी में मां- बेटी की जिंदा जलकर मौत, एसडीएम सस्पेंड लेखपाल गिरफ्तार

0
214

पीड़ित परिवार से डिप्टी सीएम ने की बात, बोले दोषियों की पुश्तें याद करेंगी कार्रवाई

प्रखर एजेन्सी। कानपुर देहात क्षेत्र में अतिक्रमण विरोधी अभियान के दौरान गई मां बेटी की जान के मामले में डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने मंगलवार को पीड़ित परिवार के लोगों से बात कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का आश्वासन दिया है. डिप्टी सीएम बृजेश पाठक.लखनऊ : कानपुर देहात क्षेत्र में अतिक्रमण विरोधी अभियान के दौरान झोपड़ी की आग से मां बेटी की मौत हो गई थी. इस मामले में डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने पीड़ित परिवार के पुत्र शिवम से वीडियो कॉल के जरिए बात करके उसको सांत्वना दी. बृजेश पाठक ने कहा कि दोषियों के खिलाफ सरकार इतनी सख्त कार्रवाई करेगी कि उनकी पुश्तें भी इस कार्रवाई को याद रखेंगी. इस मामले में ग्रामीणों के रोज को शांत करने के लिए विभागीय अधिकारियों ने उनकी सीधी बात उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक से करवाई.बृजेश पाठक ने मंगलवार की दोपहर वीडियो कॉल के जरिए अधिकारियों के मार्फत बेटे शिवम और अक्षय से बातचीत की. करीब 2 मिनट तक चली बातचीत में उप मंत्री बृजेश पाठक ने कहा कि हम बहुत दुखी हैं. यह घटना बहुत दुखी करने वाली है. तुम हमारे परिवार के हो, जो दोषी हैं उनकी पुश्तें याद करें, हम ईश्वर से कामना करेंगे, कड़ी से कड़ी सजा दिलाएंगे, वे बिल्कुल चिंता न करें, परिवार की जो भी मांगे हैं उनको पूरा किया जाएगा. गौरतलब है कि कानपुर देहात में अतिक्रमण विरोधी अभियान के दौरान मां बेटी की जलकर हुई मौत के मामले में सरकार की ओर से दोनों उपमुख्यमंत्री सामने आए हैं. केशव प्रसाद मौर्य ने ट्वीट करके और दूसरे उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने वीडियो से बातचीत में कहा है कि सरकार इस मामले में पूरी तरह से गंभीर और सख्त है. इस हादसे से जुड़े किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा. सभी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. इस मामले में लगातार कार्रवाई जारी है. सरकार पीड़ितों के साथ किसी भी तरह का अन्याय नहीं होने देगी. कानपुर देहात में मैथा तहसील क्षेत्र के मड़ौली पंचायत के चालहा गांव में सोमवार को ग्राम समाज की जमीन से कब्जा हटाने पहुंची पुलिस और प्रशासनिक अफसरों की टीम के सामने कब्जेदार की झोपड़ी में संदिग्ध हालत में आग लग गई थी. अपना आशियाना जलता देख मां-बेटी झोपड़ी में घुस गईं. दोनों को बचाने के प्रयास में गृहस्वामी व रूरा थाना प्रभारी भी झुलस गए. घटना में मां-बेटी और कई बकरियों की मौत हो गई थी.