वाराणसी व जौनपुर के खनन अधिकारी निलंबित

0
257


प्रखर वाराणसी/ जौनपुर। प्रदेश का खनन विभाग मुख्यमंत्री ने अपने पास रखा है लेकिन खनन विभाग का भ्रष्टाचार रुकने का नाम नहीं ले रहा। अवैध खनन को लेकर आए दिन मीडिया में खबरें उजागर होती रहती हैं और साथ ही लोगों द्वारा शिकायत भी की जाती है। लेकिन ढुलमुल रवैए की वजह से मामला ठंडे बस्ते में डाल दिया जाता है। बतादें कि खनन निदेशक डॉ रोशन जैकब ने वाराणसी व जौनपुर के खनन अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। वही आजमगढ़ और मऊ के खनन निरीक्षक भी निलंबित किए गए हैं। निलंबित होने वालों में वाराणसी के जिला खनन अधिकारी परिजात त्रिपाठी, जौनपुर के जिला खनन अधिकारी विनीत सिंह के साथ आजमगढ़ और मऊ के खनन निरीक्षक सुनील मौर्य, वाराणसी के खनन लिपिक सुमित श्रीवास्तव को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। बता दें कि पिछले दिनों वाराणसी के खनन अधिकारी परिजात त्रिपाठी चौबेपुर थाना क्षेत्र के मुस्तफाबाद ढाब इलाके में अवैध खनन को लेकर काफी सुर्खियों में रहे थे। जिसको लेकर मीडिया में इनकी काफी चर्चा भी हुई। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हाईकोर्ट द्वारा दिए गए आदेश में ढिलाही को लेकर वाराणसी के खनन अधिकारी को निलंबित किया गया है। सूत्र बताते है कि जौनपुर के खनन अधिकारी के खिलाफ शासन में शिकायतें पहुंचने के बाद उनके ऊपर कार्यवाही की गई।