कोल्ड स्टोरेज के रेफ्रिजरेशन मशीन में ब्लास्ट के बाद 7 मजदूरों की मौत, आधा दर्जन से अधिक घायल

0
218


प्रखर मेरठ। जिला के दौराला में दर्दनाक हादसा हुआ. यहां एक कोल्ड स्टोरेज में रेफ्रिजरेशन मशीन में ब्लास्ट के बाद इमारत का एक हिस्सा भरभरा कर गिर गया. लेंटर का बड़ा हिस्सा गिरने से सात मजदूरों की मौत हो गई जबकि रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद कुल नौ मरीजों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. एनडीआरएफ की टीम ने मौके से कई लोगों को रेस्क्यू किया. मेरठ के डीएम दीपक मीणा ने बताया कि दोपहर सवा तीन बजे के आसपास ये घटना हुई. कोल्ड स्टोरेज में ब्लास्ट के बाद साइड की वॉल और लेंटर गिरा. इसी मलबे में दबने से सात लोगों की मौत हो गई जबकि नौ घायल हो गए. बताया गया कि कुल सत्ताइस लोग उस वक्त अंदर कार्य कर रहे थे. ग्यारह लोग निकल गए थे. सोलह लोगों को रेस्क्यू कर लिया गया था. इन सोलह लोगों में सात लोगों की मौत हो गई जबकि नौ लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है.
ये सभी सत्ताइस लोग आज ही जम्मू के उधमपुर से आए थे और आज ही यहां पहुंचे थे. जम्मू के उधमपुर प्रशासन से मेरठ के जिलाधिकारी ने संपर्क कर उन्हें इस घटना के बारे में अवगत कराया. उन्होंने कहा कि जांच कमेटी इस पूरे मामले की जांच करेगी. चौबीस घंटे के अंदर जांच की रिपोर्ट आएगी. मेरठ मण्डल की कमिश्रनर सेलवा कुमारी जे ने बताया कि कोल्ड स्टोरेज में अमोनिया गैस का भी लीकेज हुआ था. गैस का दबाव बना और धमाके के साथ बिल्डिंग जमींदोज हो गई. केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने बताया कि अमोनिया का रिसाव हुआ है. और कारण क्या है जल्द ही जांच में खुलासा हो जाएगा. जो मज़दूर इस बड़े हादसे से बचे हैं उनका कहना है कि जैसे ही हादसा हुआ सभी भागने लगे. मज़दूरों ने बताया कि आलू भरने के लिए बोरियां तैयार कर रहे थे. मजदूर बता रहे हैं कि उन्हें पता नहीं चला कि एकाएक क्या हो गया. मज़दूरों ने बताया कि वो दोपहर में रोटी खा रहे थे. शेरु गोपाल, सिंदूरु नाम के मजदूरों ने बताया कि जम्मू से साठ किलोमीटर आगे उधमपुर से आए हैं. उधमपुर के गांव लाली से मजदूर आए हैं. मजदूरों ने बताया कि सत्ताइस मजदूर जम्मू से आए थे.