मऊ में रेल पटरी काट संदिग्ध पत्र द्वारा 50 करोड़ मांगने की धमकी क्राइम ब्रांच जांच में

0
82
prakhar purvanchal
prakhar purvanchal

पत्र में लड़की से प्रेम प्रसंग व शादी के बाद परेशान हूँ, लड़की को ले जाओ और 50 करोड़ देने की बात लिखी है

प्रखर मऊ। मऊ में हलदरपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत धर्मागतपुर के पास रेलवे पटरी को गैस कटर से काटकर किसी ने धमकी भरा पत्र भी छोड़ा है। बताया जा रहा है कि गुरुवार की सुबह लोगों ने जब देखा कि पटरी पर करीब 2 इंच से अधिक गैस कटर से काटी गई है, इसकी सूचना और रेलवे के आला अधिकारियों को दी गई। उन्होंने आनन फानन में पहुंचकर घंटों मशक्कत के बाद पटरी को सही करवाएं, साथ ही वहां से कई पत्र भी बरामद किए गए हैं। पत्र में प्रेम प्रसंग के तहत कुछ लिखा हुआ है। जिसमें बताया गया है कि मैं एक लड़की से प्रेम करता था भागकर विवाह किया हूं और इस लड़की से तंग आ चुका हूं। इस लड़की को ले जाओ और 50 करोड़ दे दो। अगर ऐसा नहीं हुआ तो इस तरह पटरी काटने का मामला और भी करूंगा। साथ ही पत्र में लड़की का पता बलिया के नगरा क्षेत्र का लिखा हुआ है, लेकिन पत्र लिखने वाले का नाम नहीं बताया गया। इस बाबत पुलिस बलिया के नगरा क्षेत्र जब पहुंची तो वहां पर लड़की गायब है और उसके पिता ने पास के ही एक लड़के के खिलाफ लड़की भगाने की तहरीर भी दी है। इस बाबत पुलिस ने बलिया के एसपी को मामला देकर जांच पड़ताल करने की बात कर लौट आई । अब बड़ा सवाल यह है कि क्या यह प्रेम प्रसंग के तहत ही रेल पटरी काटी गई है या कोई बड़ी घटना या कोई आतंकी घटना के तहत की जा रही है। अब यह जांच का विषय है। साथ ही यह भी जानकारी मिल रही है कि इस मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंप दी गई है। मिली जानकारी के अनुसार हलधरपुर थाना क्षेत्र के ग्राम धर्मागतपुर पुलिया के निकट गुरुवार की सुबह गैस कटर से रेल पटरी काटकर ट्रेन डीरेल करने की गंभीर साजिश की गयी। पटरी से कुछ दूरी पर 50 करोड़ न देने पर फिर इसी तरह से रेल पटरी काटने का धमकी भरा पत्र भी मिला। ग्रामीणों ने कटी पटरी को देखी तो बलिया-शाहगंज पैसेंजर रोककर चालक व परिचालक को जानकारी दी। चालक की सूचना पर पुलिस और रेल अधिकारियों में खलबली मच गयी। घंटों मशक्कत के बाद रेल पटरी की मरम्मत कराने के बाद आवागमन बहाल हुआ। मामले में सीनियर सेक्शन इंजीनियर के पीडब्ल्यूआई ने अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कराया है। बतादे कि इसी दौरान शाहगंज से बलिया की तरफ पैसेजर ट्रेन आते देख लाल गमछा हिलाकर रोका। चालक ने रेलवे के अधिकारियों को मामले की जानकारी दी। इसके साथ ही हलधरपुर थाने को भी जानकारी दी गई। मौके पर पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य, रेलवे के पीडब्ल्यूडीआई सरफराज अहमद भी दलबल के साथ पहुंच गए। बताया जाता है कि पटरी से कुछ दूरी पर एक खंभे पर पालीथीन में बंधा धमकी भरा लेटर मिला। इसमें 50 करोड़ की देने समेत तीन शर्तें नहीं मानने पर इसी तरह फिर पटरी काटने की धमकी लिखी थी। पीडब्ल्यूआई ने अज्ञात के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है। मामले में एसपी अनुराग आर्य का कहना है कि पत्र के में किसी प्रेम प्रसंग का मामला भी लिखा है। हो सकता है कि युवक ने इस तरह के वारदात को अंजाम देने की साजिश की है। साथ ही पूरी घटना से ध्यान भटकाने की भी साजिश हो सकती है। पुलिस सभी बिन्दुओं पर जांच कर रही है। बतादे कि पत्र में लिखा है कि जिस लड़की को वह भगाकर ले आया है और शादी की है, उसे वापस ले जाया जाए। वह लड़की से तंग आ गया है। उसने यह भी लिखा है कि लड़की को लेकर जाएं और उसके बदले 50 करोड़ मुझे दें। उसने लड़की का नाम पता भी पत्र में लिखा है। यह भी लिखा है कि तीन दिनों में लड़की को लेकर नहीं जाने और 50 करोड़ नहीं देने पर इसी तरह की दूसरी घटना करने की भी चेतावनी दी गई है। पत्र में उसने अपने बारे में कोई जानकारी नहीं दी है। यहां तक कि अपना नाम भी नहीं लिखा है लेकिन मोबाइल नंबर लिख दिया है।
वही पत्र की वास्तविकता की जांच के लिए बलिया के नगरा क्षेत्र की लड़की के घर पुलिस पहुंच गई। नगरा थाने में लड़की के पिता को बुलाया गया। पुलिस के अनुसार लड़की 24 दिसंबर से लापता है। पुलिस से रेल पटरी काटने की सूचना के बाद लड़की के पिता ने नगरा क्षेत्र के ही युवक के खिलाफ अपनी बेटी को बहला-फुसलाकर ले जाने की तहरीर दी है। पुलिस ने पिता की तहरीर पर नगरा थाना क्षेत्र के ही तियरा हैदर निवासी अंशु गोंड के खिलाफ लड़की भगाने का मुकदमा भी दर्ज कर लिया है। वही गुरुवार दोपहर को पुलिस ने आरोपी के घर छापेमारी भी की लेकिन वह नहीं मिला तो परिजनों को नगरा थाने लाकर पूछताछ कर रही है। बलिया के पुलिस कप्तान देवेन्द्र नाथ, एएसपी संजय यादव के साथ ही मऊ के एसपी अनुराग आर्या व एएसपी शैलेन्द्र कुमार के साथ दोनों जिलों की स्वॉट टीम भी नगरा थाने में पहुंच गई थी। मामले की जांच दोनों जनपदों के एएसपी को सौंपी गई है। प्रेम प्रसंग का मामला या कोई साजिश
गैस कटर से दो इंच रेल पटरी काटने के मामले में सुरक्षा पर सवाल उठने लगे हैं। दूसरी तरफ रेलवे ने दावा किया है कि इस तरह की वारदात को कोई एक व्यक्ति नहीं कर सकता। कम से कम चार लोगों ने पटरी काटने की घटना को अंजाम दिया है। प्रकरण को जांच शुरू हो गई है। रेलवे के अवर अभियंता अश्विनी चौहान ने मामले में बताया है कि ट्रैक को दो इंच के व्यास में गैस कटर से काटा गया है। इस तरीके का दुसाहस किसी एक व्यक्ति द्वारा नहीं किया जा सकता। इस कार्य में कम से कम चार लोगों की भागीदारी रही होगी। वहीं एसपी अनुराग आर्य का कहना है कि पत्र में युवक ने प्रेम प्रसंग का जिक्र किया है लेकिन पूरी घटना से ध्यान भटकाने की भी साजिश हो सकती है। पुलिस दोनों एंगल से जांच कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here