यह दशक दुनिया में भारत का स्थान तय करेगा- प्रधानमंत्री मोदी

0
85
prakhar purvanchal
prakhar purvanchal
– रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन के कार्यक्रम में बोले प्रधानमंत्री
– देश में पांच लैब का हुआ शुभारंभ
प्रखर बेंगलुरु। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन के कार्यक्रम में बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि यह दशक दुनिया में भारत का स्थान तय करेगा । बता दें कि अपने दो दिवसीय कार्यक्रम के लिए कर्नाटक पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डीआरडीओ के कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए यह बात कही है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां 5 यंग साइंटिस्ट लैब का उद्घाटन करने पहुंचे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वहां मौजूद लोगों को नए साल की शुभकामनाएं दीं और कहा कि यह दशक भारत के लिए बहुत जरूरी है। प्रधानमंत्री ने कहा कि न्यू और ओल्ड इंडिया के बीच संचार बहुत जरूरी है। यंग इंडिया भारत का भविष्य बदल रहा है। पीएम ने कहा कि ये संयोग ही है कि अभी कुछ समय पहले मैं तुमकुर में किसानों के कार्यक्रम में था और अब यहां देश के जवान और अनुसंधान की चिंता करने वाले आप सभी साथियों के बीच में हूं और कल मुझे साइंस कांग्रेस में जाना है। वहां मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि मुझे संतोष है कि एडवांस टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में 5 लैब्स स्थापित करने के सुझाव पर गंभीरता से काम हुआ और आज बेंगलुरु, कोलकाता, चेन्नई, हैदराबाद और मुंबई में 5 ऐसे संस्थान शुरू हो रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज डीआरडीओ में सबसे अच्छे दिमाग एक साथ काम कर रहे हैं। जिसका लाभ हमें मिल रहा है। उन्होंने कहा कि आपको ये ध्यान में रखना होगा कि 130 करोड़ भारतीयों का जीवन आसान और सुरक्षित बनाना आपकी जिम्मेदारी है, ये तो बस शुरुआत है। आपके सामने सिर्फ अगला एक साल नहीं बल्कि अगला एक दशक है। इस एक दशक में रक्षा  अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) देश के विकास में बड़ी लकीर खींचेगा। जिसके दम पर हिंदुस्तान दुनिया में अपनी दमदार उपस्थिति दर्ज कराने में सफल रहेगा। वहां मौजूद वैज्ञानिकों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें रामचरितमानस की चौपाई सुनाते हुए प्रेरित करने का काम किया। पीएम ने कहा , ”कवन सो काज कठिन जग माहीं, जो नहीं होत तात तुम्ह पाहीं.” इसका मतलब है कि दुनिया में ऐसा कोई काम नहीं है जो आपसे हो नहीं सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here