ग़ाज़ीपुर- पूर्ण होने की आस लगाए 30 बेड का सामुदायिक स्वास्थय केन्द्र, शासन, प्रशासन और जनप्रतिनिधि मौन

0
90
prakhar purvanchal
prakhar purvanchal

प्रखर ब्यूरो देवकली/गाजीपुर। देवकली ब्लाक मुख्यालय परिसर मे नव निर्मित 30 बेड का सामुदायिक स्वास्थय केन्द्र का निर्माण कार्य भाजपा शासन काल मे तत्कालीन स्वास्थय मंत्री रामबाबू हरित के प्रयास से हुआ। भाजपा सरकार के पतन के बाद बसपा व सपा की सरकारे प्रदेश मे बनी परन्तु एनएचआरएम घोटाले मे भेंट चढ जाने से करोङो रुपये की लागत से नव निर्मित भवन आज तक पूर्ण नही हो पाया। इस ओर न तो जनप्रतिनिधियों ने ध्यान दिया न तो शासन द्वारा ही चालू करने की पहल की गयी। सामुदायिक स्वास्थय केन्द्र निर्माण के समय आश्वासन दिया गया कि सन 2014 मे चालू कर दिया जायेगा। लेकिन इसे चालू करना तो दूर रहा 2020 तक भवन ही अधूरा है। जिस समय केन्द्र का निर्माण शुरु हुआ ब्लाक के नागरिको को विश्वास था कि इसके बन जाने के बाद क्षेत्र के लोगो को बेहतर स्वास्थय सेवा मिलेगी। करोङो रुपये खर्च होने के बावजूद अधूरा भवन ब्लाक मुख्यालय की शोभा बढा रहा है। प्रदेश मे योगी सरकार बनने के बाद निर्माण कार्य मे तेजी आने की संम्भावना व्यक्त की जा रही थी परन्तु ध्यान न दिये जाने से क्षेत्र की जनता निराश है। भवन के चारो तरफ झाङियां उग आयी है और अधूरा पड़ा भवन खंण्डहर के रुप मे तब्दील होने की ओर बढ रहा है। शासन, प्रशासन मूकदर्शक बना हुआ है। इस संबध मे कोई मुंह खोलने को तैयार नही है। इसके लिए कौन दोषी है और कब तक अधूरा कार्य पूरा होगा इसकी जानकारी देने के लिए कोई तैयार नही है। सपा विधायक सुभाष पासी सैदपुर विधानसभा क्षेत्र के चुनाव मे इसको चालू कराने को अपना मुख्य मुद्दा बनाया था।उनका पैतृक गांव डिहिया भी इस भवन से कुछ ही दूरी पर है। इसके बाद भी दो बार विधायक बनने के बाद भी इसकी कोई खोज खबर नही लिये। और यह मुद्दा बस चुनावी स्टंट बन कर रह गया। क्षेत्र की जनता जानना चाहती है कि सामुदायिक स्वास्थय केन्द्र के अधूरे कार्य को कब पूरा कर चालू किया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here