ग़ाज़ीपुर- मुकदमा वापस नहीं हुआ तो होगा उग्र आंदोलन- सत्या

0
30

प्रखर ब्यूरो गाजीपुर। नगर के तुलसीपुर में स्थित राही पर्यटक में बुधवार को छात्र नेता व जिला पंचायत सदस्य सत्येंद्र यादव सत्या ने प्रेसवार्ता किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के युवा नेता व फ्रंटल के नेता जिले की समस्‍याओं यूरिया, नगर पालिका के कूडे़ का निस्‍तारण आदि समस्‍याओं को लेकर लोकतांत्रिक ढंग से शांतिपूर्वक डीएम को पत्रक देने जा रहे थे। इस दौरान कार्यालय के पास पुलिस ने उन्हें रोक लिया। जब हम लोग इसका विरोध करते हुए पत्रक देने जाने लगे तो पुलिस फोर्स ने घेरकर हम लोगों पर लाठियां बरसाते हुए बेरहमी से पिटाई की। कई नेता और कार्यकर्ता घायल हो गए। हम लोगों ने मुकदमा दर्ज कराना चाहा तो नहीं हुआ। पुलिस ने एक तो हम लोगों की पिटाई की, उस पर आठ नामजद के साथ ही 40-50 अज्ञात पर उल्टे मुकदमा दर्ज करते हुए तानाशाही का परिचय दिया है। इसे हम लोग किसी भी कीमत पर बर्दास्त नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि हमारी मांग है कि फर्जी मुकदमा वापस लिया जाए। चेतावनी दिया कि यदि वापस नहीं लिया तो 21 तारीख को हम लोग भारी संख्या में एकत्र होकर उग्र आंदोलन करते हुए धरना-प्रदर्शन करते हुए लम्बा आंदोलन करने का काम करेंगे। आगे उन्होंने कहा कि जिस तरह से कोरोना कीट के नाम पर पूरे प्रदेश में धांधली हुई है, उसमें गाजीपुर जिला भी शामिल है। कीट का जो दाम तय था, उससे कई गुना बढ़ाकर खरीद की गई है। कोरोना के नाम पर पूरे प्रदेश में बहुत बड़ा भ्रष्टाचार हो रहा है। उन्होंने कहा कि हम लोग भारी संख्या में एकत्र होकर पीएम मोदी का जन्मदिन बेरोजगार दिवस के रूप में मनाएंगे। प्रेसवार्ता के दौरान डा. समीर सिंह, राजेश यादव, सत्‍यपाल यादव, रजनीश यादव, शैलेंद्र यादव, कमलेश यादव आदि लोग उपस्थित थे।